विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

अलविदा 2016: फर्जी खबरों का भी गरम रहा बाजार

पेश है साल 2016 की कुछ ऐसी झूठी खबरें, जिसे सच मान लिया गया

Pratima Sharma Pratima Sharma Updated On: Dec 30, 2016 03:56 PM IST

0
अलविदा 2016: फर्जी खबरों का भी गरम रहा बाजार

हर साल कई ऐसी अफवाहें उड़ती हैं, जिनका कोई सिर पैर नहीं होता फिर भी लोग उन पर भरोसा करने लगते हैं.साल 2016 में भी ऐसी कई खबरें उड़ीं और इसमें सबसे बड़ा हाथ सोशल मीडिया का है.

इन खबरों का असर और प्रभाव इतना ज्यादा रहा कि आरबीआई और यूनेस्को जैसी आधिकारिक संस्थाओं को इनके खंडन के लिए आगे आना पड़ा. पेश है 2016 की ऐसी ही खबरें, जिनमें रत्ती भर की भी सच्चाई नहीं है.

यूनेस्को ने नरेंद्र मोदी को सर्वश्रेष्ठ प्रधानमंत्री घोषित किया

PMONE

यह खबर पूरी तरह अफवाह है. यूनेस्को ने ऐसा कोई ऐलान नहीं किया है. दिलचस्प है कि अभी भी सोशल मीडिया पर यह फर्जी खबर सोशल मीडिया पर प्रसारित हो रहा है.

यूनेस्को ने 'जन मन गण' को दुनिया का सर्वश्रेष्ठ राष्ट्रगान बनाया

anthem1

 

यह अफवाह पहली बार 2008 में ईमेल के जरिए फैली थी. हालांकि, यूनेस्को ने इसका खंडन कर दिया है. लेकिन 2016 में स्वतंत्रता दिवस के आस—पास फिर यह झूठी खबर सोशल मीडिया पर छायी हुई थी.

यूनेस्को ने भारत की 2,000 के नोट को दुनिया की बेस्ट करेंसी बनाया

anthem

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 8 नवंबर को नोटबंदी का ऐलान किया था. इसके बाद रिजर्व बैंक की तरफ से जारी 2000 रुपए के नोट को लेकर यह अफवाह फैली. यूनेस्को की सांस्कृतिक जागरुकता विभाग के अध्यक्ष सौरभ मुखर्जी के हवाले से यह अफवाह फैली थी.

नए नोटों में जीपीएस चिप लगी हुई है, जिससे कालेधन का पता चलेगा

nanochip

नोटबंदी के बाद फैली इस अफवाह ने तो आम नागरिकों के साथ-साथ मीडिया को भी अपनी चपेट में ले लिया था.

कालेधन और भ्रष्टाचार के खिलाफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जब नोटबंदी का ऐलान किया तब यह अफवाह फैली कि 2,000 रुपये के नए नोटों में जीपीएस चिप लगी हुई है, जिससे सरकारी एजेंसी कहीं भी रखे नोट का पता लगा सकती हैं.

दावा यह भी किया गया था कि नए नोटों को अगर जमीन में 120 मीटर नीचे भी दबा दिया जाए तो जीपीएस चिप सरकार को यह संकेत देगी.

इस अफवाह का लाभ उठाते हुए कुछ लोगों ने ऐसे मोबाइल ऐप बना दिए, जिससे नोट स्कैन करने पर प्रधानमंत्री का भाषण चलने लगता है.

नए नोट में रेडियोएक्टिव स्याही का इस्तेमाल 

Noteban1

नोटबंदी को लेकर कई झूठी खबरें फैलीं. एक अफवाह यह भी थी कि नए नोटों की छपाई में रेडियोएक्टिव स्याही का इस्तेमाल हुआ है. कहा गया था कि इसकी मदद से आरबीआई एकसाथ बड़े पैमाने पर रखे नोटों का पता लगा सकती है.

व्हाट्सएप प्रोफाइल पिक्चर का इस्तेमाल आईएसआईएस कर रहा है

WHTSUP

व्हाट्सएप पर फैली इस फर्जी खबर में यह चेतावनी दी गई कि यूजर्स व्हाट्सएप की प्रोफाइल पिक्चर हटा लें, क्योंकि आतंकवादी संगठन आईएसआईएस उसका गलत इस्तेमाल कर सकता है.

आरबीआई ने 10 रुपए के सिक्के अवैध घोषित किया

COIN

नोटबंदी की घोषणा से महीने भर पहले ही यह खबर फैली थी कि आरबीआई ने 10 रुपए के सिक्के को अवैध करार दिया है. इस तरह की फर्जी खबरें आगरा, दिल्ली और मेरठ में खूब फैले. अंत में आरबीआई को सामने आकर यह बताना पड़ा कि 10 रुपए के सभी सिक्के वैध हैं.

जयललिता की बेटी और उत्तराधिकारी अमेरिका में हैं

jaya

तमिलनाडु की सत्तारूढ़ अन्ना द्रमुक पार्टी की प्रमुख और मुख्यमंत्री जयललिता के निधन के कुछ ही देर बाद यह खबर आने लगी कि उनकी एक बेटी है, जो अमेरिका में रहती है और वही उनकी उत्तराधिकारी हैं.

इस मेसेज में जयललिता की एक तस्वीर भी वायरल हुई है, जिसमें उनके बगल में खड़ी एक लड़की के उनकी बेटी होने का दावा किया गया है.

मशहूर गायिका और टेलीविजन शो होस्ट चिन्मई श्रीपता ने इस खबर का खंडन करते हुए बताया कि उस लड़की का जयललिता से कोई संबंध नहीं है.वह लड़की आॅस्ट्रेलिया में रहती है.

देश में नमक की कमी

salt

इस खबर से लोगों में अफरातफरी मच गई और दुकानदारों ने इसका फायदा उठाते हुए 100 रुपए किलो तक नमक बेचा. कानपुर में लोग एक दुकान में नमक के पैकेट लूटने लगे जिससे भगदड़ मच गई. भगदड़ पर काबू पाने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया, जिससे एक महिला की मौत हो गई.

बीबीसी के पत्रकार मार्क टुली ने किया मोदी सरकार का समर्थन 

tully

बीबीसी इंडिया के पूर्व ब्यूरो चीफ और जाने-माने पत्रकार मार्क टुली के हवाले से एक फर्जी खबर फैली कि टुली ने मौजूदा प्रधानमंत्री मोदी के प्रति समर्थन जताते हुए देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू पर बरगद के किसी वृक्ष की तरह सरकारी संस्थानों को निष्प्रभावी करने का आरोप लगाया.

टुली ने हिंदुस्तान टाइम्स में प्रकाशित होने वाले अपने स्तंभ के जरिए इसका खंडन किया.

(आईएएनएस)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi