S M L

2012 में तख्तापलट की झूठी खबरों पर बोले वी के सिंह- ये देशद्रोह है, कार्रवाई होनी चाहिए

साल 2012 में सेना के तख्तापलट करने की कुछ खबरें उड़ी थी. इन खबरों से देश में काफी बवाल मच गया था

Updated On: Feb 07, 2019 04:49 PM IST

FP Staff

0
2012 में तख्तापलट की झूठी खबरों पर बोले वी के सिंह- ये देशद्रोह है, कार्रवाई होनी चाहिए

UPA-2 की सरकार के दौरान साल 2012 में सेना के तख्तापलट करने की कुछ खबरें उड़ी थी. इन खबरों से देश में काफी बवाल मच गया था.  हाल ही में बीजेपी ने इन खबरों को गलत बताकर कांग्रेस पर निशाना साधा था. बीजेपी ने कहा कि उस समय सेना के खिलाफ तख्तापलट की गलत खबर छपवाकर उसे बदनाम किया गया.

वहीं इस मामले में अब पूर्व सेना प्रमुख वीके सिंह ने कहा है कि मैनें साफ किया था कि सेना कभी भी इस तरह का कुछ करने के बारे में सोच भी नहीं सकती. इसके बावजूद, कुछ लोग लगातार यही राग अलाप रहे थे कि ऐसा कुछ हुआ है.

उन्होंने कहा, तत्कालीन रक्षा मंत्री ने भी बयान जारी किया था कि ऐसा कुछ नहीं हुआ है. उस समय मैंने गृह मंत्रालय से भी शिकायत की थी कि इसकी जांच होनी चाहिए क्योंकि यह देशद्रोह है. लेकिन तब इसकी जांच नहीं हुईं. मैंने पीएम से इस पर उच्चस्तरीय जांच कराने का अनुरोध किया है. मेरे पास छिपाने के लिए कुछ नहीं है.

क्या थे बीजेपी के आरोप?

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक  इस मामले को लेकर बीजेपी ने दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कांग्रेस पर निशना साधा था. बीजेपी ने एक रिपोर्ट के हवाले से आरोप लगाया था कि सैना के खिलाफ इस तरह की खबर छपवाने के पीछे मनमोहन सरकार के चार मंत्रियों का हाथ था. बीजेपी ने आरोप लगाया कि सेना के खिलाफ इम चार मंत्रियों ने ही साजिश रची.

बीजेपी के प्रवक्ता जीवीएन नरसिम्हा ने कांग्रेस के सीनियर नेताओं पर सेना के खिलाफ खबरें प्लांट करवाने का आरोप लगाया. नरसिम्हा ने कहा, मनमोहन सरकार के चार मंत्रियों ने तख्तापलट की झूठी खबर अखबरों में छपवाकर सेना का अपमान किया. यह देश से गद्दारी थी. '

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi