S M L

जेसीबी साहित्यिक पुरस्कार: 25 लाख इनामी राशि वाले पुरस्कार के लिए एंट्री शुरू

जेसीबी इंडिया लिमिटेड के तरफ से इस पुरस्कार को दिया जाएगा और यह इसका पहला चरण है

FP Staff Updated On: Mar 07, 2018 04:41 PM IST

0
जेसीबी साहित्यिक पुरस्कार: 25 लाख इनामी राशि वाले पुरस्कार के लिए एंट्री शुरू

नए नवेले शुरू हुए 25 लाख रुपए इनामी रकम वाले साहित्यिक पुरस्कार के पहले संस्करण के लिए एंट्री शुरू हो गई है. इसे भारत का सबसे अमीर साहित्यिक पुरस्कार के तौर पर देखा जा रहा है. साहित्य के लिए दिए जाने वाले जेसीबी पुरस्कार, भारतीय लेखकों द्वारा लिखे गए उपन्यास के विशिष्ठ कार्यों को सामने लाएगा और उसे दिखाएगा.

यह पुरस्कार जीतने वाले को 25 लाख रुपए की इनामी राशि दी जाएगी. अगर उपन्यास अनुवाद किया हुआ है तो अनुवाद को 5 लाख रुपए की राशि प्रदान की जाएगी.

आयोजकों का कहना है कि अनुवादक को पांच लाख रुपए इनाम देने के पीछे हमारी सोच यह है कि हम भविष्य में अनुवाद के कार्यों को प्रोत्साहित कर सकें. अनुवाद अंग्रेजी में हो या अन्य किसी भाषा में.

कंस्ट्रक्शन के समान बनाने वाली कंपनी जेसीबी इंडिया लिमिटेड इस पुरस्कार समारोह को करा रही है. जेसीबी इंडिया लिमिटेड के जेसीबी लिटरेचर फाउंडेशन के तत्वाधान में दिए जाने वाले इस पुरस्कार के लिए एंट्री की तारीख 31 मई है.

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, आयोजनकर्ताओं ने बताया कि हर प्रकाशक अपनी अंग्रेजी में किए गए कार्यों की एंट्री करा सकता है. जिन किताबों का अनुवाद किया गया है उनकी एंट्री के लिए अलग व्यवस्था की गई है.

जेसीबी इंडिया लिमिटेड के अध्यक्ष लॉर्ड बैमफॉर्ड ने कहा कि भारत में कंपनी के 40 साल पूरा हो रहे हैं. ऐसे में जेसीबी साहित्यिक पुरस्कार को शुरू करने का इससे बेहतर समय कोई और नहीं हो सकता. उन्होंने कहा कि मैं आशा करता हूं कि इस शानदार देश में यह पुरस्कार पाठकों और प्रकाशकों को छोटे स्तर पर मदद करेगा.

उपन्यासकार राणा दासगुप्ता जेसीबी साहित्यिक पुरस्कार के डायरेक्टर हैं. इस साल की ज्यूरी में फिल्म डायरेक्टर दीपा मेहता (चेयर), प्रियंवदा नटराजन के लेखक रोहन मूर्ति, उपन्यासकार विवेक शांगभाग और लेखक-अनुवादक आर्शिया सतर हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi