S M L

आंध्र: इंजीनियरिंग छात्रा से गैंगरेप, ब्लैकमेल कर मांगे 10 लाख रुपए

पुलिस ने गैंगरेप और आईटी एक्ट के तहत मामला दर्ज कर आरोपी तीनों सॉफ्टवेयर इंजीनियरों को गिरफ्तार कर लिया है. शनिवार को तीनों आरोपियों को जिला अदालत में पेश किया, जहां से उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया

FP Staff Updated On: Jul 01, 2018 10:52 AM IST

0
आंध्र: इंजीनियरिंग छात्रा से गैंगरेप, ब्लैकमेल कर मांगे 10 लाख रुपए

आंध्र प्रदेश के कृष्णा जिले के एक इंजीनियरिंग छात्रा के साथ गैंगरेप और ब्लैकमेलिंग का मामला सामने आया है. यह मामला 2017 का है जब अग्रीपल्ली के एनआरआई इंजीनियरिंग से बी-टेक कर रही थी पीड़िता कोर्स के अंतिम वर्ष में थी.

टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर के अनुसार पिछले साल फरवरी महीने में एक जन्मदिन पार्टी में शामिल होने के बहाने उसके साथ पढ़ने वाले छात्र शिवा रेड्डी और कृष्णा वामसी ने उसे एक होटल में बुलाया. यहां उन्होंने कोल्ड ड्रिंक में नशीली दवा मिलाकर उसे पिला दी. छात्रा जब बेहोश हो गई तो दोनों ने उसके साथ गैंगरेप किया और उसका वीडियो बना लिया.

वीडियो वायरल करने की धमकी देकर दोनों आरोपी छात्रा के साथ काफी दिनों तक रेप करते रहे. इतना ही नहीं आरोपियों ने वीडियो में अपने चेहरे को ब्लर कर उसे अपने एक व्हाटसएप ग्रुप पर डाल दिया और कुछ दोस्तों के साथ भी शेयर किया. इससे परेशान होकर पीड़ित छात्रा ने अपने परिजनों को उसके साथ हुई हैवानियत के बारे में बताया. परिवारवालों ने कॉलेज प्रबंधन से इसकी शिकायत की तो उन्होंने मामले को रफा-दफा करवाने के लिए आरोपी छात्रों पर दबाव डालकर यह वीडियो डिलीट करवा दिया.

सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल करने की धमकी देकर मांगे 10 लाख 

मगर इसके 2 महीने बाद ही डोडला प्रवीण नाम के एक अन्य छात्र ने पीड़ित छात्रा से सेक्स की डिमांड करते हुए उसे ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया. उसने उससे 10 लाख रुपए मांगे. पैसे नहीं देने पर प्रवीण ने यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी दी.

छात्रा के परिवारवालों को जब इसकी जानकारी हुई तो वो पुलिस के पास पहुंचे.  पुलिस ने गैंगरेप और आईटी एक्ट के तहत मामला दर्ज कर आरोपी तीनों सॉफ्टवेयर इंजीनियरों कृष्णा वामसी, शिवा रेड्डी और डोडला प्रवीण को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने तीनों के मोबाइल फोन को जब्त कर उसे जांच के लिए भेज दिया है.

पुलिस के अनुसार तीनों आरोपी एनआरआई कॉलेज में ही पढ़ते थे और वो छात्रा के बैचमेट थे.

शनिवार को तीनों आरोपियों को डिस्ट्रिक्ट कोर्ट (जिला अदालत) में पेश किया, जहां से उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi