S M L

चौतरफे हमले की बीच ईडी ने और बढ़ाई लालू की मुश्किलें

बिहार में सरकार जाने के बाद भी लगातार चल रहा मुश्किलों का दौर कम नहीं हो रहा है

Ravishankar Singh Ravishankar Singh Updated On: Jul 27, 2017 10:55 PM IST

0
चौतरफे हमले की बीच ईडी ने और बढ़ाई लालू की मुश्किलें

नीतीश कुमार का साथ छुटते ही लालू प्रसाद यादव चारों तरफ से मुसीबत में फंसते हुए नजर आ रहे हैं. एक ओर जहां चारा घाटोले में लालू प्रसाद यादव की लगातार पेशी हो रही है वहीं प्रवर्तन निदेशालय(ईडी) ने मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप में लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार पर केस दर्ज कर लिया है.

बिहार की सत्ता से बेदखल हुए अभी 24 घंटे भी नहीं बीते थे कि ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप में आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव, पत्नी राबड़ी देवी और छोटे बेटे तेजस्वी यादव के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है.

लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार के खिलाफ ईडी का नया केस और मुसीबत लेकर आने वाला है. इससे पहले बेनामी संपत्ति और आय से अधिक संपत्ति मामले में सीबीआई ने पहले ही लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार पर केस दर्ज कर रखा है.

रेलवे की संपत्तियों को बेचने का आरोप

Indian Railway

ईडी के एफआईआर में लालू प्रसाद यादव पर आरोप लगे हैं कि रेल मंत्री रहते रेलवे की संपत्तियों को प्राइवेट कंपनियों को सस्ते दामों में बेच दिया गया. जिसके बदले लालू प्रसाद यादव को इन कंपनियों ने अप्रत्यक्ष तौर पर फायदा पहुंचाया.

आयकर विभाग और सीबीआई ने पिछले ही दिनो ही बेनामी संपत्ति के तथाकथित मामले में लालू प्रसाद यादव और उनके सगे संबधियों के कई ठिकानों पर छापेमारी की थी.

हम आपको बता दें कि सीबीआई के पिछले रेड में राबड़ी देवी और तेजस्वी यादव से लंबी पूछताछ हुई थी. जिसके बाद ही ईडी ने सीबीआई और आयकर विभाग के जांच के आधार पर केस दर्ज किया है.

दूसरी ओर लालू प्रसाद यादव की बड़ी बेटी सांसद मीसा भारती और उनके पति पर बेनामी संपत्ति के मामले में पहले सी ही एफआईआर दर्ज है.

पिछले ही दिनो ईडी ने मीसा भारती और उनके पति को जरूरी दस्तावेज जमा करने को कहा है. मीसा भारती और उनके पति ईडी के दफ्तर में लगातार हाजिरी दे रहे हैं.

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की सांसद बिटिया मीसा भारती और उनके पति पर भी अब गिरफ्तारी की तलवार लटक गई है. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की जांच में जो बात निकल कर सामने आई है उससे मीसा भारती की भी गिरफ्तारी तय मानी जा रही है.

ईडी ने पिछले दिनों ही 8 हजार करोड़ रुपए के मनी लॉन्ड्रिंग केस के सिलसिले लालू की बेटी मीसा भारती और दामाद शैलेश कुमार से जुड़ी तीन संपत्तियों पर छापेमारी की थी. ईडी अधिकारियों ने दोनों से करीब 9 घंटे तक पूछताछ की.

सीबीआई के इस छापेमारी के ठीक एक दिन बाद लालू यादव की सांसद बेटी मीसा भारती के तीन ठिकानों पर ईडी की छापेमारी ने बची-खुची कसर भी पूरी कर दी.

मीसा भारती पर आरोप है कि दिल्ली के दो कारोबारी सुरेंद्र जैन और वीरेंद्र जैन के फर्जी कंपनियों के जरिए मीसा भारती धनशोधन का काम किया.

जांच एजेंसियों की जांच में यह बात सामने आई है कि मीसा भारती की कंपनी और जैन बंधुओं की कंपनियों के बीच संदिग्ध लेनदेन हुआ.

संदिग्ध लेन-देन के पैसों के मीसा ने खरीदा फार्महाउस

Misa Bharti

ईडी सूत्रों के हवाले से खबर है कि इस लेनदेन से आए पैसे का इस्तेमाल मीसा ने अपने फार्महाउसों की खरीद में किया है. ईडी के पास मीसा और शैलेश कुमार को गिरफ्तार करने के पुख्ता सबूत हैं.

आयकर विभाग के छापे के दौरान मीसा भारती की वो शेल कपंनियां निशाने पर रहीं, जिन कंपनियों ने मीसा भारती को करोड़ों रुपए का लोन दे कर दिल्ली की महंगी जमीन सस्ते दाम में बेची थी.

आयकर विभाग के रडार पर आने के बाद लालू प्रसाद यादव के 22 ठिकानों पर 16 मई को छापा पड़ा था. आयकर विभाग की इस छापेमारी में आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव और बेटे-बेटियों के नाम बेनामी संपत्ति की बात सामने आई थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Test Ride: Royal Enfield की दमदार Thunderbird 500X

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi