विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

एलफिन्स्टन स्टेशन: सेना ने संभाला जिम्मा, बनाएगी रेलवे ब्रिज

रेलवे मंत्री पीयूष गोयल ने बताया कि सेना ने तीन स्टेशनों का निरीक्षण कर रूपरेखा तैयार कर लिया है.

FP Staff Updated On: Oct 31, 2017 03:41 PM IST

0
एलफिन्स्टन स्टेशन: सेना ने संभाला जिम्मा, बनाएगी रेलवे ब्रिज

पिछले महीने मुंबई के एलफिन्स्टन रेलवे ब्रिज पर मची भगदड़ में 23 लोगों की जान चली गई थी, जिसके बाद से ब्रिज को फिर से बनाने का प्रस्ताव था. अब इसका जिम्मा सेना ने ले लिया है. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने मंगलवार को इसकी घोषणा की.

मंगलवार को देवेंद्र फडणवीस, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और रेलमंत्री पीयूष गोयल एलफिन्सटन रेलवे स्टेशन पहुंचे थे. यहां फडणवीस ने कहा, 'एलफिन्सटन हादसे के बाद पुलों के निर्माण के लिए सेना से हमने मदद मांगी थी, रक्षा मंत्री ने अपनी सहमति दे दी है. हमने 31 जनवरी तक 3 पुलों का निर्माण करने का लक्ष्य रखा है.'

फडणवीस ने कहा कि एलिफन्सटन पर, जिस पुल पर हादसा हुआ, उसका निर्माण तो किया ही जाएगा, साथ ही अंबीवली और करी रोड रेलवे स्टेशनों पर भी उतने ही वक्त में दो पुलों का निर्माण किया जाएगा.

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि शायद ऐसा पहली बार होगा, जब सेना किसी सिविल वर्क में हिस्सा लेगी, लेकिन एलफिन्सटन हादसा बहुत बड़ा हादसा था और हमें जनवरी तक ये लक्ष्य पूरा करना था, इसलिए हमें सेना की मदद लेनी होगी.

सीतारमण ने कहा कि आर्मी ने इस जगह का निरीक्षण किया है. वो इस चरण में हर कदम पर निगरानी रखेंगे. हम आभारी है कि आर्मी राष्ट्रनिर्माण के इस पहल में भागीदारी करने को राजी हो गई है.

रेलवे मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि 6 अक्टूबर को बीजेपी मुंबई के अध्यक्ष आशीष शेलार के साथ बातचीत करने के बाद हमने तय किया कि कुछ रेलवे स्टेशनों पर पैसेंजरों की सुविधा के लिए निर्माण कराए जाने की बहुत जरूरत है. इसलिए हमने सेना से मदद लेने का फैसला किया है. एलफिन्सटन, अंबीवली और करी रोड को खासतौर पर चुना गया है.

इस बीच पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा है कि सेना का काम युद्ध लड़ना है. उसे इस तरह के नागरिक कार्यों में नहीं लगाया जाना चाहिए. उनके मुताबिक 1962 के चीन युद्ध से पहले भी कुछ ऐसा ही हुआ था.

बता दें कि पिछले महीने 29 सितंबर को पुल टूटने की कथित अफवाह के चलते एलफिन्सटन का दशकों पुराना पुल टूट गया, जिससे 23 लोगों की जान चली गई थी. इसके बाद रेलवे की काफी आलोचना हुई थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi