S M L

कार्ति चिदंबरम ने छिपाई पहचान, टीचर की बीवी को बनाया कंपनी का प्रोमोटर: ईडी

ईडी कार्ति चिदंबरम के खिलाफ मनी लॉंड्रिंग मामले की जांच की तैयारी कर रही है.

Updated On: May 19, 2017 03:12 PM IST

Ravishankar Singh Ravishankar Singh

0
कार्ति चिदंबरम ने छिपाई पहचान, टीचर की बीवी को बनाया कंपनी का प्रोमोटर: ईडी

देश के पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चितंबरम के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय(ईडी) ने मनी लॉड्रिंग का केस दर्ज कर लिया है. केस दर्ज होने के बाद कार्ति चिदंबरम और उनकी कंपनियों के खिलाफ चल रही जांच में अब एक नया मोड़ आ गया है. ईडी ने 14 देशों से कार्ति चिदंबरम केस में जानकारी मांगी है.

यह महज इत्तिफाक कहें या सोची-समझी रणनीति कि ईडी ने फेमा के अंतगर्त केस जैसे ही दर्ज किया उसके दो दिन पहले कार्ति चिदंबरम लंदन निकल गए. पिछले साल विजय माल्या ने भी ऐसा ही किया था. ईडी में मामला दर्ज होने के कुछ दिन पहले ही विजय माल्या देश छोड़ कर लंदन भाग गए थे.

जांच एजेंसियों ने कार्ति चिदंबरम और उनकी तथाकथित कंपनियों के खिलाफ कई चौंकाने वाले खुलासे किए हैं. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को मिले दस्तावेज में यह बात निकल कर सामने आई है कि कार्ति के करीबी सहयोगी एस भास्करमरण की पत्नी पद्मा भास्कररमण को कागजों में स्ट्रैटिजिक कंसलटिंग प्राइवेट लिमिटेड (एएससीपीएल) का प्रमोटर और निदेशक बनया गया था.

karti

ईडी के मुताबिक, पद्मा भास्कररमण कागजों में तो कंपनी की मालिक और डायरेक्टर हैं. वहीं पेशे से पद्मा एक स्कूल टीचर हैं. कार्ति की पहचान छिपाने के लिए पद्मा के भाई भी इस प्रोजेक्ट में प्रमोटर के तौर पर शामिल किए गए थे.

ईडी को जो दस्तावेज मिले हैं उसमें कार्ति चिदंबरम कागजों में लाभार्थी और इंचार्ज रहे हैं. इस कंपनी पर आरोप है कि आईएनएक्स मीडिया को एफआईपीबी की मंजूरी दिलाने का आरोप है. इस मामले की जांच सीबीआई भी कर रही है. आईएनएक्स मीडिया के निवेश को फॉरन इन्वेस्टमेंट प्रमोशन बोर्ड की ओर से दी गई मंजूरी के मामले में यही कंपनी सीबीआई जांच के घेरे में है.

ईडी में मामला दर्ज होने के बाद सीबीआई भी अब एफआईआर के आधार पर कार्ति चिदंबरम के खिलाफ मनी लांड्रिंग मामले की जांच की तैयारी कर रही है. प्रवर्तन निदेशालय अब कार्ति चिदंबरम के खिलाफ मनी लांन्ड्रिंग की जांच शुरू करने की तैयारी कर रहा है. ईडी की यह जांच सीबीआई की ओर से दर्ज एफआईआर के आधार पर भी शुरू की जाएगी.

सीबीआई छापे के दो दिन बाद कार्ति चिदंबरम गुरुवार को लंदन चले गए. कार्ति के साथ उनके एक दोस्त भी लंदन निकल गए.

Chidambaram

कार्ति के पिता पी चिदंबरम का कहना है कि कार्ति कुछ दिन में देश लौट आएंगे. सीबीआई ने मंगलवार को कार्ति से जुड़े 16 ठिकानों पर तलाशी ली थी. कार्ति पर आरोप है कि 2007 में जब उनके पिता वित्त मंत्री थे, तब उन्होंने अपने प्रभाव का इस्तेमाल करते हुए फॉरन इन्वेस्टमेंट प्रमोशन बोर्ड के अधिकारियों के जरिए आईएनएक्स मीडिया को मंजूरी दिलाई थी.

आईएनएक्स मीडिया के दो निदेशक पीटर मुखर्जी और इंद्राणी मुखर्जी थे, जो कि इस वक्त शीना बोरा मर्डर केस में जेल में बंद हैं

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi