S M L

अगले 48 घंटों में फिर आ सकती है आंधी, अब तक मृतकों की संख्या 100 के पार

मौसम विभाग के एक अधिकारी ने अगले 48 घंटों के दौरान उत्तरप्रदेश और राजस्थान के कुछ हिस्सों में फिर से धूल भरी आंधी आने की आशंका जताई है

Updated On: May 04, 2018 12:15 PM IST

FP Staff

0
अगले 48 घंटों में फिर आ सकती है आंधी, अब तक मृतकों की संख्या 100 के पार
Loading...

उत्तर भारत के कई इलाकों में बुधवार देर रात आए आंधी-तूफान ने काफी तबाही मचाई है. गुरुवार तक सामने आए आंकड़ों के मुताबिक इस तूफान और बारिश में 79 लोगों की मौत हुई थी, लेकिन ये आंकड़ा अब 109 के आस-पास चला गया है. चिंता की बात ये है कि उत्तर प्रदेश सरकार ने अगले 48 घंटे के लिए अलर्ट जारी किया है. एक बार फिर से इन राज्यों में तूफान आ सकता है.

उत्तर प्रदेश में कुल 64 लोगों की मौत हुई है जिनमें आगरा में सबसे ज्यादा 36 लोगों की मौत हुई है. वहीं राजस्थान में 32 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है. उत्तर प्रदेश में आंधी-तूफान की वजह से 156 से ज्यादा मवेशियों की भी मौत हुई है. आगरा के अलावा, उत्तरप्रदेश में बिजनौर, बरेली, सहारनपुर, पीलीभीत, फिरोजाबाद, चित्रकूट, मुजफ्फरनगर, रायबरेली और उन्नाव भी प्रभावित हुआ.

उत्तर प्रदेश और राजस्थान में फिर आ सकता है तूफान

मौसम विभाग के एक अधिकारी के अनुसार क्षेत्र में बने चक्रवाती परिसंचार तंत्र से अगले 48 घंटों के दौरान उत्तरप्रदेश और राजस्थान के कुछ हिस्सों में फिर से धूल भरी आंधी आने का पूर्वानुमान है.

जयपुर के भारतीय मौसम विभाग के वैज्ञानिक हिमांशु शर्मा ने बताया कि राजस्थान में आगामी 48 घंटों के दौरान उच्च क्षमता की तेज हवाओं के चलने से धूल भरा अंधड़ आने की आशंका है. इससे उत्तर प्रदेश और राजस्थान के सीमावर्ती क्षेत्र विशेषकर करौली, धौलपुर जिले प्रभावित हो सकते हैं.

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया ने ट्वीट कर जानकारी दी कि उन्होंने अधिकारियों और मंत्रियों को आदेश दे दिए हैं कि प्रभावित इलाकों में बचाव कार्य शुरू करें. स्थिति काबू में लाने के लिए स्थानीय कर्मचारी काम में जुट गए हैं. उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी संबंधित जिलों में भारी नुकसान के लिए मुआवजा जारी करने के आदेश दिए हैं. उन्होंने कहा कि संबंधित जिलों के अधिकारी नुकसान का आकलन करते हुए प्रभावितों को बिना देर किये मुआवजा प्रदान करें. राहत कार्यों में किसी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस घटना दुख जताते हुए ट्वीट किया कि 'इस घटना पर दुखी हूं. मृतकों के परिवारों के प्रति संवेदन व्यक्त करता हूं. घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं.' पीएम मोदी ने अधिकारियों को राज्यों के साथ समन्वय बनाने और प्रभावितों को तुरंत राहत प्रदान किया जाना सुनिश्चित करने को कहा है .

इन इलाकों में पहुंचा है सबसे ज्यादा नुकसान

उत्तर प्रदेश के आगरा मंडल में आने वाले खेरागढ़, फतेहाबाद, पिनाहट और अछनेरा में आंधी तूफान से सबसे अधिक नुकसान पहुंचा है. वहीं राजस्थान के भारपुर, धौलपुर, अलवर और झुंझनू जिलों में सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचा है. यहां सौ से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं. तेज रफ्तार आंधी-तूफान से खेतों में कटे पड़े गेहूं की फसल को भी भारी नुकसान पहुंचा है.

आंधी-तूफान से भारी तबाही और मौतों के प्रति शोक जताते हुए कांग्रेस महासचिव अशोक गहलोत ने अपने जन्मदिन की पार्टी रद्द कर दी है. गहलोत ने ट्वीट कर मरने वाले लोगों और उनके परिवार के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है..

आपदा प्रबंधन और राहत सचिव हेमंत कुमार गेरा ने बताया कि कुछ लोगों का उपचार चल रहा है जबकि कुछ को छुट्टी दे दी गई है. उन्होंने बताया कि आंधी आपदा की विस्तृत रिपोर्ट की प्रतीक्षा है, हालांकि राहत दलों को सड़कों से मलबा हटाने, बिजली की सप्लाई को चालू करने सहित अन्य राहत कार्यो में लगाया गया है.

उन्होंने बताया कि आंधी प्रभावित जिला प्रशासन को आकस्मिक निधि कोष से राशि जारी की गई है. मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रूपए का मुआवजा, 60 प्रतिशत तक घायल हुए लोगों को दो-दो लाख रूपए का मुआवजा, 40 से 50 प्रतिशत तक घायल हुए लोगों को 60-60 हजार रूपये का मुआवजा दिया जाएगा.

(एजेंसी से इनपुट के साथ)

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi