S M L

48 घंटे की भारी बारिश से पंजाब-हरियाणा में फसल खराब होने की आशंका

बारिश से धान, कपास और बाजरा की फसलों को चोट पहुंची है और वो जमीन से लेट गई हैं

Updated On: Sep 24, 2018 12:37 PM IST

FP Staff

0
48 घंटे की भारी बारिश से पंजाब-हरियाणा में फसल खराब होने की आशंका

उत्तर भारत के कई हिस्सों में बीते 48 घंटे से भी ज्यादा समय से हो रही भारी बारिश से कई जगहों पर बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं. पंजाब और हरियाणा में इस वजह से कपास और धान की फसल को नुकसान पहुंचने का आशंका जताई जा रही है.

इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के अनुसार दोनों ही फसलें खेत में पक कर तैयार हैं. पंजाब के कृषि निदेशक डॉ. जसबीर सिंह बेंस ने कहा बारिश की वजह से राज्य के कई हिस्सों में खेत में खड़ी धान की फसल को चोट पहुंचा है और वो जमीन पर लेट गई है. कृषि की भाषा में इसे लॉजिंग कहा जाता है. उन्होंने कहा कि नुकसान का सही आकलन बारिश थमने के बाद ही लगाया जा सकेगा.

लॉजिंग के चलते धान के अंदर चावल के दाने का पूरा विकास नहीं हो पाता है. इससे धान के पीला पड़ जाने की भी आशंका बढ़ जाती है. साथ ही प्रति एकड़ पैदावार में भी कमी आ जाती है.

हरियाणा में कृषि और किसान कल्याण विभाग के जॉइंट डायरेक्टर जगराज ढांडी ने इंडियन एक्स्प्रसे को बताया कि राज्य में पिछले 2 दिन से लगातार हो रही बारिश की वजह से धान, कपास और बाजरा की फसल पर बुरा असर पड़ा है. उन्होंने कहा लॉजिंग से धान की क्वालिटी पर असर पड़ेगा. साथ ही उसकी पैदावार भी कम होगी और रंग पर भी असर होगा. बरसात से कपास के गोलों में नमी पैदा होगी और पूरी फसल काली पड़ जाएगी.

ढांडी ने कहा कि कुछ इलाकों में किसानों ने कपास की कटाई शुरू कर दी है मगर बारिश से फसल बरबाद हो जाएगी या उसकी क्वालिटी खराब हो जाएगी. इतना ही नहीं बाजरे की फसल पर भी बरसात की मार पड़ेगी, जो कटाई के लिए तैयार है.

ऑल किसान किसान सभा (एआईकेएस) हरियाणा के यूनिट जॉइंट सेक्रेटरी दयानंद पूनिया ने कहा कि भारी बारिश से दक्षिण हरियाणा में खेत में खड़ी फसलों पर मार पड़ी है, जिससे वो जमीन पर लेट गई हैं. उन्होंने कहा भिवानी, महेंद्रगढ़ और हिसार जिले में बाजरा की फसल को इस वजह से काफी नुकसान पहुंचा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi