S M L

आसाराम बापू के समर्थकों के डर से शाहजहांपुर में बढ़ाई गई पीड़िता के घर की सुरक्षा

बलात्कार के एक मामले में आसाराम बापू को सजा मिलने के मद्देनजर प्रशासन ने पीड़िता के घर की सुरक्षा बढ़ा दी है.

Updated On: Apr 21, 2018 04:18 PM IST

Bhasha

0
आसाराम बापू के समर्थकों के डर से शाहजहांपुर में बढ़ाई गई पीड़िता के घर की सुरक्षा

बलात्कार के एक मामले में आसाराम बापू को 25 अप्रैल को सजा सुनाई जाएगी. यह सजा जोधपुर की विशेष अदालत की तरफ से सुनाई जाएगी. इसके मद्देनजर प्रशासन ने भी अपनी कमर कस ली है और पीड़िता के घर की सुरक्षा बढ़ा दी गई है. कहा जा रहा है कि सजा होने पर आसाराम बापू के समर्थक उत्पात मचा सकते हैं, इसलिए प्रशासन ने यह कदम उठाया है.

शाहजहांपुर के एसपी दिनेश त्रिपाठी ने बताया कि पीड़िता के घर और परिवार वालों की लगातार निगरानी की जा रही है. वहां पर पांच पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं और सभी आने-जाने वालों पर कड़ी नजर रखी जा रही है. त्रिपाठी ने कहा कि वह फैसले के मद्देनजर वह खुद ही सुरक्षा की नियमित समीक्षा कर रहे हैं. संबंधित सभी अधिकारी परिवार वालों के संपर्क में हैं. वहीं पीड़िता के पिता का कहना है कि उन्हें न्यायपालिका में पूरी आस्था है और इस बात का यकीन है कि उन्हें जरुर न्याय मिलेगा.

आसाराम बापू पर 2012 में एक किशोरी ने जोधपुर के निकट मनई गांव के आश्रम में यौन उत्पीडन करने का आरोप लगाया था. किशोरी उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर की निवासी है और जिस समय उसके साथ यह घटना हुई वह आश्रम में ही एक छात्रा के रुप में रह रही थी. जोधपुर की विशेष अदालत मामले की सुनवाई पूरी कर चुकी है और फैसला 25 अप्रैल के लिए सुरक्षित कर दिया है.

आपको बता दें कि आसाराम बापू 31 अगस्त 2013 से जेल में हैं. उन पर पाक्सो एक्ट और अनुसूचित जाति एवं जनजाति अत्याचार निरोधक अधिनियम के तहत मामला चल रहा है. इस के अलावा आसाराम बापू पर गुजरात में भी बलात्कार का एक मामला दर्ज है. सूरत की दो बहनों ने आसाराम और उनके बेटे नारायण साई के खिलाफ अलग-अलग शिकायतें दर्ज करा बलात्कार और बंधक बनाने का आरोप लगाया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi