S M L

दिल्ली: बस कंडक्टरों ने आवाज लगाई या हॉर्न बजाया तो लगेगा जुर्माना

दिल्ली में बसों से सफर करने वाले यात्रियों की संख्या 2.70 लाख है. इतनी आवाजाही के बीच लगातार शोरगुल बना रहता है.

Updated On: Oct 17, 2017 12:21 PM IST

FP Staff

0
दिल्ली: बस कंडक्टरों ने आवाज लगाई या हॉर्न बजाया तो लगेगा जुर्माना

दिल्ली में दिवाली के मौके पर पटाखों पर बैन के बाद अब एक और बैन का आदेश आ गया है. अब दिल्ली बस अड्डों पर अब कंडक्टरों ने सवारी बुलाने के लिए आवाज लगाई, तो उस पर 100 रुपए का जुर्माना लगेगा. इसके साथ ही कहीं उसने हॉर्न भी बजा दिया, तो उसे 500 तक का जुर्माना देना होगा.

दिल्ली ट्रांसपोर्ट इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलेपमेंट कार्पोरेशन लिमिटेड (डीटीआईडीसी) ने 9 अक्टूबर को ये आदेश जारी किया था, जिसे अब अमल में लाया जा रहा है. बस अड्‌डा पर ध्वनि प्रदूषण कम करने के लिए ये नया नियम लाया गया है. देखा जाए तो देश में अपनी तरह का ये पहला आदेश है.

डीटीआईडीसी के प्रबंध निदेशक केके दहिया की ओर से जारी इस आदेश में कहा गया है कि ‘बस अड्डे पर ड्राइवर बार-बार हाॅर्न बजाते रहते हैं. कंडक्टर और स्टाफ भी सवारी को बैठाने के लिए तेज आवाज में उन्हें बुलाते रहते हैं. इस प्रवृत्ति को कम करने के लिए जुर्माने का प्रावधान लाया गया है. जुर्माना बस के स्टैंड से बाहर निकलते समय फीस के साथ वसूला जाएगा.’

दिल्ली में तीन बड़े बस अड्डे हैं- कश्मीरी गेट, आनंद विहार और सराय कालेखां. ये नया नियम इन्हीं तीनों पर बढ़ते ध्वनि प्रदूषण को ध्यान में रखकर बनाया गया है.

कश्मीरी गेट- 880 इंटरस्टेट बसें, 250 लोकल बसें, 1 लाख यात्री.

आनंद विहार- 945 इंटरस्टेट बसें, 1819 लोकल बसें, 1.25 लाख यात्री.

सराय काले खां- 572 इंटरस्टेट बसें, 45 हजार यात्री.

इन तीनों बस अड्‌डाें से रोज 2,407 इंटर स्टेट बसें और 2,069 लोकल बसें चलती हैं. यहां से रोज सफर करने वाले यात्रियों की संख्या 2.70 लाख है. इतनी आवाजाही के बीच लगातार शोरगुल बना रहता है. कॉर्पोरेशन इसे ही कम करने की कवायद में जुटा हुआ है.

ध्वनि प्रदूषण पीक आवर में 60-82 डेसीबल तक पहुंच जाता है. राजधानी में ध्वनि प्रदूषण का मानक स्तर 40-50 डेसीबल के बीच है, लेकिन ट्रैफिक जंक्शन और बस अड्डों पर यह स्तर 60-82 डेसीबल तक पहुंच जाता है. पीक आवर में तो शोर 85 डेसीबल से भी ऊपर चला जाता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi