S M L

पिछले साल जिस ड्राइवर ने कई अमरनाथ यात्रियों की जान बचाई, इस साल उसे यात्रियों के लाले पड़े

ड्राइवर सलीम ने कहा, मैं पिछले छह साल से अमरनाथ बस लेकर जा रहा हूं. इस साल यह पहला मौका है जब मैं वहां नहीं जा रहा. इसका कारण लोगों के मन में सुरक्षा को लेकर बैठा भय है

FP Staff Updated On: Jul 03, 2018 04:29 PM IST

0
पिछले साल जिस ड्राइवर ने कई अमरनाथ यात्रियों की जान बचाई, इस साल उसे यात्रियों के लाले पड़े

पिछले साल 10 जुलाई की वह घटना सबको याद होगी जिसमें अमरनाथ यात्रियों से भरी एक बस पर आतंकियों ने हमला कर दिया था. सलीम शेख गफूर नाम का वह ड्राइवर भी सबको याद होगा जिसने अपनी जान की बाजी लगाकर कई यात्रियों की जान बचाई थी.

आतंकी बस पर तड़ातड़ गोलियां बरसाते रहे लेकिन सलीम तब तक नहीं रुके जब तक वे बस को सुरक्षित स्थान तक नहीं ले गए. उनकी बहादुरी पर उन्हें देश के दूसरे सबसे बड़े नागरिक सम्मान उत्तम जीवन रक्षा पदक से नवाजा गया था.

दुर्भाग्यवश सलीम इस साल उसी अमरनाथ रूट पर फेरी लगाना चाहते हैं लेकिन उन्हें यात्रियों के लाले पड़ गए हैं. गुजरात के वलसाड के रहने वाले ड्राइवर सलीम की हार्दिक तमन्ना है यात्रियों को लेकर अमरनाथ गुफा जाने की लेकिन यात्रियों ने उनसे मुंह फेर लिया है. इस बारे में सलीम का कहना है कि जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा की चिंता में लोग शायद बस यात्रा नहीं करना चाहते.

सलीम ने न्यूज18 से कहा, अगर आप वलसाड आरटीओ के डेटा देखें तो पाएंगे कि बीते वर्षों में दर्जनों बसें परमिट लेकर अमरनाथ के लिए रवाना हुईं लेकिन इस साल एक बस को भी परमिट जारी नहीं किया गया है. परमिट की प्रक्रियाएं ऑनलाइन हो गई हैं, तब भी बसें नहीं जा रहीं.

ड्राइवर सलीम ने कहा, मैं पिछले छह साल से अमरनाथ बस लेकर जा रहा हूं. इस साल यह पहला मौका है जब मैं वहां नहीं जा रहा. इसका कारण लोगों के मन में सुरक्षा को लेकर बैठा भय है.

सलीम को इस बात का काफी अफसोस है कि पिछली घटना में वे उन्हें नहीं बचा पाए जिनपर आतंकियों ने हमला किया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi