S M L

दारुल उलूम का मुस्लिम छात्रों के लिए फतवा, 'गणतंत्र दिवस पर बाहर न निकलें'

एक तरफ जहां देश भर में गणतंत्र दिवस की तैयारियां चल रही हैं. वहीं दूसरी ओर इस्लामिक शिक्षण संस्थान दारुल उलूम देवबंद ने फतवा जारी कर मुस्लिम छात्रों के गणतंत्र दिवस के दिन बाहर निकलने पर रोक लगा दी है

Updated On: Jan 23, 2019 11:55 AM IST

FP Staff

0
दारुल उलूम का मुस्लिम छात्रों के लिए फतवा, 'गणतंत्र दिवस पर बाहर न निकलें'

एक तरफ जहां देश भर में गणतंत्र दिवस की तैयारियां चल रही हैं. वहीं दूसरी ओर इस्लामिक शिक्षण संस्थान दारुल उलूम देवबंद ने फतवा जारी कर मुस्लिम छात्रों के गणतंत्र दिवस के दिन बाहर निकलने पर रोक लगा दी है. दारुल उलूम ने 26 जनवरी के दिन छात्रों के घूमने-फिरने पर भी रोक लगाई है. इस्लामिक शिक्षण संस्थान ने अपने फतवे में कहा है कि अगर छात्र गणतंत्र दिवस के दिन बाहर निकले तो उनका उत्पीड़न हो सकता है, ऐसे में वो संथ्थान के परिसर में ही रहे.

नवभारत टाइम्स के मुताबिक, सहारनपुर स्थित दारुल उलूम देवबंद के हॉस्टल विभाग के प्रमुख ने कहा कि गणतंत्र दिवस पर छुट्टी होती है, ऐसे में हॉस्टल के छात्र घूमने-फिरने बाहर जाते हैं. वो किसी विवादित स्थिति में न फंस जाए या उनका उत्पीड़न न हो इसके चलते ये फतवा जारी किया गया है.

इससे पहले उत्तर प्रदेश के दारुल उलूम देवबंद ने गणतंत्र दिवस से पहले एक और निर्देश जारी किया था. जिसमें देवबंद ने सभी छात्रों को गणतंत्र दिवस के मौके पर ट्रेनों में सफर न करने की हिदायत दी थी. ये निर्देश भी दारुल उलूम के हॉस्टल प्रभारी ने ही जारी किया था. देवबंद ने निर्देश दिया था कि 26 जनवरी के मौके पर तिरंगा फहराने के बाद सभी छात्र अपने दारुल उलूम वापस आ जाएं और ट्रेनों में सफर न करें.

दारुल उलूम के मुफ्ती असद कासमी ने कहा कि गणतंत्र दिवस पर कुछ छात्र अपने यार दोस्तों के पास घूमने चले जाते हैं. देवबंद ने उन सभी छात्रों को सख्त हिदायत दी है कि ऐसे मौके पर कहीं सफर न करें और अगर किसी को जरूरत है तो सफर करके फौरन दारुल उलूम देवबंद का रुख करें, क्योंकि इस दौरान चैकिंग होती है और बिना वजह की परेशानी उठानी पड़ती है. इसकी वजह से डर और खौफ का माहौल पैदा होता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi