S M L

होशंगाबाद में अनूठी पहल, बना देश का पहला डॉग टॉयलेट

जापान की तर्ज पर ही होशंगाबाद में देश का पहला डॉग टॉयलेट बनाया गया है

Updated On: Feb 23, 2018 03:30 PM IST

FP Staff

0
होशंगाबाद में अनूठी पहल, बना देश का पहला डॉग टॉयलेट

स्वच्छता अभियान के अंतगर्त देशभर में टॉयलेट बनाए जाने की खबर आपने जरूर सुनी होगी. लेकिन क्या यह सुना कि होशंगाबाद में देश का पहला डॉग टॉयलेट भी बन रहा है. जी हां, राजस्थान पत्रिका की एक खबर ने इस अनूठी पहल की पड़ताल की है.

पत्रिका की खबर के मुताबिक, होशंगाबाद के नगरपालिका अध्यक्ष अखिलेश खंडेलवाल ने टॉयलेट निर्माण के अभियान में एक बड़ा कदम उठाते हुए डॉग टॉयलेट बनवाने का जिम्मा उठाया है. खंडेलवाल का मानना है कि शहर में जो लोग कुत्ते पालने के शौकीन हैं वे अपने डॉग को यहां लाकर स्वच्छता में योगदान दे सकते हैं. इससे गली, मोहल्लों में सफाई रहेगी.

60 हजार रुपए में बना अनोखा टॉयलेट

कुत्तों के शौच से आसपास गंदगी न फैले और साफ-सफाई बनी रहे, इसके लिए डॉग टॉयलेट सर्किट हाऊस रोड पर बनाया गया है. इसके निर्माण में 60 हजार रुपए खर्च हुए हैं.

कैसी है इसकी बनावट?

इस टॉयलेट में सोक पिट के ऊपर प्लेटफॉर्म बनाया है. गौर करने वाली बात यह है कि शौच के बाद सफाई के लिए फ्लश और पानी की सुविधा है. फ्लश चलाने से गंदगी पिट के अंदर चली जाएगी. टॉयलेट के अंदर अंधेरा न हो, इसके लिए बजाप्ता रोशनी की भी व्यवस्था है. अासपास बाउंड्री लगाने का काम बाकी रह गया है. उसे भी जल्द ही पूरा कर लिया जाएगा.

विदेश में बनाए जातें हैं डॉग टॉयलेट

भारत में ऐसे डॉग टॉयलेट बनाने की खबर भले ही अनूठी हो, विदेश में इनका निर्माण होता रहा है. जापान में तो इसकी संख्या कुछ ज्यादा ही है. जापान की तर्ज पर ही होशंगाबाद में देश का पहला डॉग टॉयलेट बनाया गया. यहां की नगर पालिका ने पिछले सत्र में इस टॉयलेट का प्रस्ताव पास किया था.

कुत्तों के लिए वॉकिंग लेन

खबर के मुताबिक डॉग टॉयलेट के पास एक पैदल पथ भी बनाया जा रहा है. इस वॉकिंग लेन का उपयोग पालतू कुत्तों को घुमाने में किया जाएगा. सुबह शाम सैर करने वाले लोग पालतू डॉग को भी घुमा सकेंगे. सर्किट चौराहे से घाट, पीडब्ल्यूडी ऑफिस रोड होते हुए एसएनजी मैदान तक 17 लाख की लागत से वॉकिंग पाथ का निर्माण हो रहा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi