S M L

मालकिन की जान बचाते हुए कुत्ते ने गंवाई जान, मालकिन अब चाहती है इंसाफ

घटना मुंबई के सियोन कोलिवाड़ा में ही बसे मक्काडीवाड़ा की झुग्गी बस्तियों की है

FP Staff Updated On: Apr 15, 2017 10:49 AM IST

0
मालकिन की जान बचाते हुए कुत्ते ने गंवाई जान, मालकिन अब चाहती है इंसाफ

मुंबई के अंटॉप हिल इलाके में हुए एक आपसी रंजिश की घटना में एक कुत्ते की दर्दनाक मौत हो गई है.

अंग्रेजी वेबसाइट हफपोस्ट इंडिया में छपी खबर के अनुसार, 13 साल के इस कुत्ते को करीब साल भर पहले सियोन कोलिवाड़ा इलाके की झुग्गी बस्ती की एक महिला ने गोद लिया था.

ये घटना बुधवार को सियोन कोलिवाड़ा में ही बसे मक्काडीवाड़ा की झुग्गी बस्तियों की है.

अंग्रेजी अखबार मुंबई मिरर में छपी रिपोर्ट के अनुसार कुत्ता 'लकी' अपनी मालकिन सुमति देवेंद्रन और उसके भाई के साथ रहता था.

उनके पड़ोस में व्यंकटेश नाम का व्यक्ति अपने भाई और उसकी पत्नी रोजी के साथ रहता है. घटना वाले दिन व्यंकटेश और उसकी भाभी रोजी के बीच झगड़ा हो रहा था जो बाद में काफी हिंसक हो गया.

ये झगड़ा इस कदर बढ़ गया कि व्यंकेटेश अपनी भाभी रोजी पर चाकू से हमला करने को तैयार हो गया.

व्यंकटेश की इस हरकत से डरकर रोजी अपनी जान बचाने के लिये अपनी पड़ोसी सुमति देवेंद्रन के घर पहुंची जहां उनका पालतू कुत्ता लकी भी उनके साथ था.

 

पूरी घटना के बारे में बताते हुए सुमति कहती हैं, ‘उसने व्यंकटेश को हाथ में चाकू लिए देखा तो जोर-जोर से भौंकने लगा था. फिर जैसे ही व्यंकटेश हम पर चाकू से हमला करने लिए आगे बढ़ा तो लकी ने लपककर उसके पांव में अपनी दांत गड़ा दी और उसे अपने दांतों से जकड़ लिया.’

इस हमले के बाद व्यंकटेश किसी तरह से अपनी जान बचाकर भाग पाया लेकिन उसके चाकू के हमले कुत्ता लकी बुरी तरह से घायल हो चुका था. उसके शरीर से बहुत सारा खून बह रहा था.

इस घटना के बाद पुलिस ने व्यंकटेश को गिरफ्तार कर लिया था लेकिन बाद में उसे पांच हजार रूपये के निजी मुचलके पर छोड़ भी दिया गया.

पर सुमति पुलिस के इस कदम से खुश नहीं है. उसका कहना है कि, ‘लखी ने उसकी जान बचाने के लिए अपनी जान दे दी...इसलिए वो हर हाल में व्यंकटेश को सजा दिलवाना चाहती है.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
कोई तो जूनून चाहिए जिंदगी के वास्ते

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi