S M L

'मांसाहार के शौकीन' लालू यादव के असंतुलित खान-पान से रिम्स के डॉक्टर परेशान

बीते 26 अगस्त यानी रक्षाबंधन को दिल्ली निवासी देश के एक मशहूर टीवी एंकर लालू यादव से उनके आवास पर मिले. उन्होंने देखा कि लालू यादव अराम से मीट-चावल खा रहे हैं.

Updated On: Sep 16, 2018 11:56 AM IST

Kanhaiya Bhelari Kanhaiya Bhelari
लेखक वरिष्ठ पत्रकार हैं.

0
'मांसाहार के शौकीन' लालू यादव के असंतुलित खान-पान से रिम्स के डॉक्टर परेशान

बात नब्बे दशक की शुरुआत की है. देश के प्रतिष्ठित पत्रकार स्वर्गीय अरिंदम सेन गुप्ता ने सीएम लालू यादव से पूछा ‘आपकी लोकप्रियता का राज क्या है?’. लालू यादव ने तर्जनी उंगली को अपनी जीभ पर रखकर फटाक से जवाब दिया ‘जीभ पर कंट्रोल नहीं रहा’.

हकीकत में राजद चीफ लालू यादव को अपनी जीभ पर कभी कंट्रोल नहीं रहा है. न खाने के मामले में और न ही बोलने के मामले में. परिस्थति व माहौल कैसा भी हो लालू यादव अपनी जीभ पर कभी अंकुश नहीं लगाते हैं. परिणाम कुछ भी हो. जीभ ही उनकी यूएसपी है और यही जीभ उनकी टीआरपी भी बढ़ाती है.

‘अनकंट्रोल्ड’ जीभ के कारण डॉक्टरों को लालू यादव की बीमारी को कंट्रोल में लाने में बड़ी परेशानी हो रही है. चारा घोटाले में सजा काट रहे लालू यादव अभी रांची मेडिकल कालेज के पेइंग वार्ड में हैं. उनकी देखभाल कर रहे डॉक्टरों का कहना है, ‘लालू यादव के असंतुलित खान पान के कारण हमलोग परेशान हैं. अस्पताल का खाना नहीं खाते हैं. बाहर से भोजन मंगाते हैं जिसके कारण इनके रोगों पर दवाई का असर कम पड़ता है. शुगर लेवल तो बिल्कुल अनियंत्रित हो गया है’.

लालू प्रसाद का इलाज कर रहे डॉ. उमेश प्रसाद ने रविवार को मीडिया को बताया कि राजद सुप्रीमो को 11 तरह की बीमारी हैं. हाल में हुए बालतोड़ ने उनकी समस्या बढ़ा दी है. शुगर अगर नियंत्रित नहीं होता है तो उनका बालतोड़ का घाव ठीक करने में काफी समय लग सकता है. रिम्स की डायटिशियन कुमारी माधुरी बताती हैं, ‘लालू यादव क्या खा रहे हैं उनको मालूम नहीं है क्योंकि जबसे वो पेइंग वार्ड में शिफ्ट हुए हैं तब से उनका भोजन और नाश्ता हमारे यहां से नहीं भेजा जाता है’.

Lalu Prasad Yadav in Ranchi

बहरहाल, लालू यादव कई बार पत्रकारों को बता चुके हैं, ‘मैंने जिस अस्पताल में अपने हेल्थ का चेक अप कराया, वहां के डॉक्टरों की पहली सलाह रही है कि नाॅन वेज से परहेज कुरूं पर मन मानता ही नहीं है’. रिम्स के एक डॉक्टर ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया, ‘लालू यादव हर वो फूड आइटम बाहर से मंगाकर खाते हैं जिसे हमलोगों ने बैन किया है.'

सौ बात की एक बात है कि पूर्व सीएम अपने हेल्थ को लेकर कभी चिंतित नहीं रहे हैं. जवानी के दिनो से ही बिंदास खान-पान के शौकीन रहे हैं. खान-पान से कभी समझौता नहीं करते हैं. दिसम्बर 2017 में खबर छपी कि लालू यादव एक ज्योतिषाचार्य की सलाह पर दूसरी बार शुद्ध शाकाहारी बन गए हैं. एक समारोह में मिले तो मैंने पूछा कि सही में आप मांस-मछली खाना छोड़ दिए? अपने स्टाइल में मुस्कुराते हुए उन्होंने जवाब दिया ‘सबकुछ छूट जाएगा बाकी यही खाना तो कभी नहीं छूट सकता है.’ राजद चीफ ने दार्शनिक अंदाज में सवाल किया कि ‘काहे छोड़ेंगे? छोड़ देने से अमर हो जाएंगे क्या?’

Lalu Prasad Yadav appears before CBI Court

मैंने आगे पूछा, ‘कुछ साल पहले आपने ही कहा था कि जेल में भगवान शंकर प्रकट होकर सुझाव दिए थे कि मेरे भक्त लालू तुम शाकाहारी बन जाओ ताकि सारी दैहिक, दैविक और भौतिक संताप से तुम्हें मुक्ति मिल जाए. और आप भगवान की बात मान लिए. ‘मैं जेल में बंद था. एक दैनिक अखबार के पत्रकार मित्र को एक्सक्लूसिव खबर चाहिए थी. सो मैंने दे दिया. सही बात ये है कि मैंने कभी मांसाहार छोड़ा ही नहीं है’.

अभी बीते 26 अगस्त यानी रक्षाबंधन को दिल्ली निवासी देश के एक मशहूर टीवी एंकर लालू यादव से उनके आवास पर मिले. उन्होंने देखा कि लालू यादव अराम से मीट-चावल खा रहे हैं. उनको आश्चर्य हुआ जिसे उन्होंने अपने एक मित्र से इस प्रकार शेयर किया, ‘अखबारों में पढ़ा था कि लालू यादव काफी बीमार हैं डॉक्टरों ने सलाह दी है कि नाॅन-वेज खासकर रेड मीट से परहेज करें. जबकि मैंने अपनी आंखों से देखा कि मस्त भाव से बकरा का गोस्त खा रहे हैं और मिलने वाले लोगों से अपने स्वभाविक अंदाज में हंसी मजाक भी कर रहे हैं.’

(लेखक वरिष्ठ पत्रकार हैं)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi