S M L

सिजेरियन ऑपरेशन छोड़ एकदूसरे से भिड़े डॉक्टर, बच्ची की मौत

जब मामला सामने आया तो राज्य सरकार के आदेश पर डॉ. अशोक नैनीवाल और डॉ टाक पर एक्शन लेने के लिए सख्त आदेश दिए.

FP Staff Updated On: Aug 30, 2017 03:43 PM IST

0
सिजेरियन ऑपरेशन छोड़ एकदूसरे से भिड़े डॉक्टर, बच्ची की मौत

समाज में डॉक्टर की पहली जिम्मेदारी होती है मरीज की जान बचाना और मामला जब ऑपरेशन टेबल का हो तो यह जिम्मेदारी और बढ़ जाती है. लेकिन राजस्थान के जोधपुर में ऑपरेशन के दौरान डॉक्टरों के झगड़े का एक ऐसा वीडियो सामने आया है जिसने पूरी डॉक्टर कम्यूनिटी को शर्मसार कर दिया है.

जोधपुर के उम्मेद अस्पताल के गायनिक डॉक्टर अशोक नैनीवाल और एनेस्थेटिक डॉक्टर एमएल टाक एक महिला के सिजेरियन ऑपरेशन के दौरान ही झगड़ पड़े. अब आरोप लगाया जा रहा है कि उनके झगड़े की वजह से ही ऑपरेशन में गड़बड़ी हुई और नवजात बच्ची की मौत हो गई.

ऑपरेशन के दौरान झगड़े वाला वीडियो वायरल होने के बाद अब उम्मेद अस्पताल के प्रिंसिपल एल भट्ट के आदेश पर डॉ. अशोक नैनीवाल और डॉ टाक के खिलाफ एक्शन लेने के सख्त आदेश दिए गए हैं.

 

जोधपुर के अस्पताल में नवजात की मौत को लेकर जांच के आदेश दे दिए गए हैं. कोर्ट ने जांच में न्यायिक अधिकारी को भी शामिल करने को कहा है. साथ ही एक हफ्ते में रिपोर्ट जमा कराने को भी कहा है.

कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट ने कहा है कि अब जांच का क्या फायदा जब बेगुनाह की जान चली गई. डॉक्टरों का ये रवैया बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. राजस्थान सरकार अपनी ड्यूटी सही ढंग से नहीं निभा रही है. वहीं झड़प में शामिल डॉक्टरों में से एक नैनीवाल ने इस घटना को लेकर बेतुका बयान दिया है. उन्होंने कहा कि पीड़ित मेरे मरीज नहीं थे. मैं मौत के लिए जिम्मेदार नहीं हूं. मेरे मरीज अच्छे हाल में है.

दरअसल रातानाडा की रहने वाली अनीता मंगलवार सुबह डिलीवरी के लिए उम्मेद हॉस्पिटल गई थी. सबसे पहले अनीता को लेबर रूम ले जाया गया, जहां डॉ. इंद्रा भाटी ने अनीता का चेकअप किया तो पेट में नवजात बच्चे की धड़कन धीमी पाई.

इसके तुरंत बाद ही अनीता को सिजेरियन डिलिवरी के लिए ऑपरेशन थिएटर में भेजा गया. ऑपरेशन थिएटर में टेबल के दूसरी तरफ गायनेकोलॉजिस्ट डॉ. अशोक नैनीवाल एक दूसरी महिला का ऑपरेशन कर रहे थे.

यहां एनेस्थिसिस्ट और ओटी इंचार्ज डॉ. एमएल टाक बच्चे की धड़कन चेक करने के लिए दूसरे डॉक्टर से कह रहे थे. इसी बीच डॉ. अशोक भड़क गए और डॉ. टाक पर चिल्लाने लगे.

देखते ही देखते डॉ. टाक भी अनीता को छोड़कर डॉ. अशोक से उलझने चले गए और दोनों के बीच तू-तू-मैं-मैं शुरू हो गई. वहां मौजूद नर्सिंग स्टाफ ने दोनों डॉक्टर्स को समझाने की बहुत कोशिश की, पर वे नहीं माने. घटना के बाद अनिता के सिजेरियन से हुई नवजात बच्ची ने कुछ ही देर में अपना दम तोड़ दिया.

इस वीडियो के वायरल होते ही अफरातफरी का माहौल बन गया. जब मामला सामने आया तो राज्य सरकार के आदेश पर डॉ. अशोक नैनीवाल और डॉ टाक पर एक्शन लेने के लिए सख्त आदेश दे दिए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi