S M L

नोटों से हो सकती हैं खतरनाक बीमारियां, अरुण जेटली से जांच की मांग

वित्त मंत्री अरुण जेटली, स्वास्थ्य मंत्री जे पी नड्डा और विज्ञान मंत्री हर्षवर्धन को चिट्ठी लिखकर करेंसी नोटों से होने वाली हानिकारक बीमारियों की जांच ले लिए निवेदन किया गया है

Updated On: Sep 02, 2018 05:43 PM IST

FP Staff

0
नोटों से हो सकती हैं खतरनाक बीमारियां, अरुण जेटली से जांच की मांग

ट्रेडर्स बॉडी सीएआईटी ने वित्त मंत्री अरुण जेटली को से करेंसी नोटों की जांच की गुजारिश की है. सीएआईटी ने करेंसी नोटों से कथित तौर पर स्वास्थ्य खतरों की संभावना जताई है और अरुण जेटली से आग्रह किया है कि वे प्रदूषण के कारण लोगों को बीमारियों से बचाने के लिए निवारक उपाय करें. द कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (सीएआईटी) ने स्वास्थ्य मंत्री जे पी नड्डा और विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री हर्षवर्धन को भेजे गए पत्र की प्रतियों में इस मुद्दे को उजागर करने के लिए विभिन्न मीडिया रिपोर्टों और स्टडी का हवाला दिया और इस मुद्दे पर तत्काल संज्ञान लेने का अनुरोध किया.

न्यूज 18 के मुताबिक ट्रेडर्स बॉडी ने विभिन्न अध्ययनों के निष्कर्षों का हवाला दिया, जिसमें दावा किया गया था कि नोट विषाणु और किटाणुओं से दूषित थे. साथ ही ये पेशाब और सांस के जरिए त्वचा संक्रमण, मेनिंजाइटिस, टॉक्सिक शॉक सिंड्रोम और विभिन्न प्रकार के कई रोगों की उनकी फैलाने की क्षमता के बारे में चेतावनी दी गई थी. सीएआईटी के सचिव प्रवीण खंडेलवाल ने कहा कि वैसे तो साइंस जर्नल इन चौंकाने वाली सच्चाईयों को लगभग हर साल ही छापते आ रहे हैं लेकिन दुख की बात ये है कि इस पर कोई कदम नहीं उठाया गया.

उन्होंने कहा कि 'ट्रेडिंग समुदाय करेंसी नोटों का सबसे बड़ा उपयोगकर्ता है. और अगर ये रिपोर्ट सही हैं, तो फिर वो नोट न केवल व्यापारियों बल्कि उपभोक्ताओं के स्वास्थ्य के लिए भी हानिकारक हैं. सरकार के अलावा, मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया और इंडियन मेडिकल एसोसिएशन को जांच के लिए आगे आना चाहिए कि आखिर ये नोट किस हद तक दूषित हैं.'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi