S M L

जेएनयू के गायब छात्र नजीब के परिवार और दोस्तों ने किया मार्च

जेएनयू का छात्र नजीब अहमद 15 अक्टूबर 2016 से कैंपस से गायब है

Updated On: Feb 22, 2017 10:41 PM IST

Ravishankar Singh Ravishankar Singh

0
जेएनयू के गायब छात्र नजीब के परिवार और दोस्तों ने किया मार्च

जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) से लापता छात्र नजीब अहमद की बरामदगी में देरी को लेकर बुधवार को एमएचआरडी पर एक प्रोटेस्ट मार्च निकाला गया.
यह प्रोटेस्ट मार्च दिल्ली के प्रेस क्लब ऑफ इंडिया पर निकाला गया. प्रोटेस्ट मार्च में नजीब अहमद की मां, बहन, भाई और उसके दोस्तों ने भाग लिया.  यह मार्च शास्त्री भवन के एमएचआरडी मंत्रालय के सामने तक गया.
नजीब अहमद की मां फातिमा नफीस ने फ़र्स्टपोस्ट हिंदी से बात करते हुए दिल्ली पुलिस के रवैए पर सवाल खड़ा किया.
फातिमा नफीस कहती हैं, ‘मेरा दिल्ली पुलिस पर से विश्वास उठ गया है. दिल्ली पुलिस का रवैया विश्वास करने लायक नहीं है. हमने बंदी प्रत्यक्षीकरण के तहत हाईकोर्ट में रिट दाखिल किया है. मेरे बेटे को गायब हुए चार महीने से भी ज्यादा का वक्त गुजर गया है पर अभी तक दिल्ली पुलिस कुछ भी नहीं किया है.’
फातिमा नफीस आगे कहती हैं, ‘नजीब को तलाश कर हमारे सामने पेश किया जाए. हमलोगों ने किसी का क्या बिगाड़ा है. क्यों इस पर राजनीति हो रही है. मेरा बेटा गायब है, मेरे दिल पर क्या बीत रही है ये सिर्फ मेरा परिवार ही जान रहा है.’
इस विरोध प्रदर्शन के दौरान नजीब का परिवार एमएचआरडी मिनिस्टर से मिलने गया.

najeeb mother

तस्वीर: गायब छात्र नजीब की मां और बहन

एबीवीपी के छात्रों का नहीं हुआ है पॉलीग्राफ टेस्ट
नजीब की गिरफ्तारी के रहस्य को सुलझाने के लिए दिल्ली पुलिस ने हाईकोर्ट से पॉलीग्राफ टेस्ट करने की बात कही थी. दिल्ली पुलिस ने हाईकोर्ट को कहा है कि पॉलीग्राफ टेस्ट कराने में कोई परेशानी नहीं है, लेकिन नजीब के दोस्तों के साथ एबीवीपी के छात्रों को इसके लिए तैयार होना पड़ेगा.
दूसरी तरफ एबीवीपी का कहना है कि दिल्ली पुलिस सिर्फ एबीवीपी के छात्रों का ही पॉलीग्राफ टेस्ट कराना चाह रही है. नजीब अहमद के दोस्तो की भी पॉलीग्राफ टेस्ट होनी चाहिए.
नजीब अहमद को लेकर 20 फरवरी को दिल्ली हाईकोर्ट में और 22 फरवरी को पटियाला कोर्ट में सुनवाई हुई. इस मामले की अगली सुनवाई 16 मार्च को हाईकोर्ट में होनी है.
पिछली सुनवाई में हाईकोर्ट ने दिल्ली पुलिस को फटकार लगाई थी. हाईकोर्ट ने नजीब अहमद के बारे में अभी तक कोई सुराग नहीं मिलने पर हैरानी जाहिर की थी.
इससे पहले पटियाला हाउस कोर्ट ने दिल्ली पुलिस से 6 मार्च तक एबीवीपी के 9 छात्रों के पॉलीग्राफ टेस्ट पर 6 मार्च तक जबाब मांगा है.
जेएनयू का छात्र नजीब अहमद 15 अक्टूबर 2016 से जेएनयू कैंपस से गायब है. आज तक दिल्ली पुलिस को नजीब के बारे में कुछ भी हाथ नहीं लगा है.
एबीवीपी के 9 संदिग्ध छात्रों में से एक ने हाईकोर्ट के 14 और 22 दिसंबर के उस आदेश पर दोबारा विचार करने की याचिका दाखिल कर रखी है, जिसमें पॉलीग्राफ टेस्ट कराने की बात कराने की बात कही गई है. इस छात्र का कहना है कि पॉलीग्राफ टेस्ट उसके अधिकारों के खिलाफ है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi