S M L

'पौधे भीजो': क्या आप जानते हैं डेरा समर्थकों के इस कोड वर्ड का मतलब?

डेरा प्रमुख राम रहीम को दोषी ठहराए जाने के बाद जो हिंसा हुई वह और भी भयानक होने की आशंका थी

FP Staff Updated On: Aug 27, 2017 06:06 PM IST

0
'पौधे भीजो': क्या आप जानते हैं डेरा समर्थकों के इस कोड वर्ड का मतलब?

डेरा प्रमुख राम रहीम बलात्कार का दोषी ठहराए जाने के बाद, जो हिंसा हुई वह और भी भयानक होने की आशंका हरियाणा सरकार को थी. सरकार को सबसे ज्यादा चिंता ये थी कि कहीं दोषी ठहराए जाने के बाद डेरा राम रहीम अपने समर्थकों से हजारों की संख्या में खुद को खत्म करने यानि आत्मबलिदान के लिए न कह दें. ऐसी स्थिति में मौत की संख्या को संभाल पाना बेहद मुश्किल हो जाता.

दरअसल सरकार के पास खुफिया विभाग से जानकारी थी कि अगर बाबा को कोर्ट बरी नहीं करता है, तो डेरा के संचालक अपने समर्थकों को मारपीट और हाथापाई के लिए इशारा करेंगे. इसके लिए बाकायदा एक कोड वर्ड भी तैयार किया गया था. वो कोड वर्ड था 'पौधे भीजो'.

यही इंटेलिजेंस इनपुट हरियाणा सरकार के पास था, जिसने सरकार और प्रशासन को परेशान कर दिया था. इसी कारण पंचकूला में लाखों की संख्या में डेरा समर्थक जुट गए थे. सरकार को पूरा अंदेशा था कि फैसला आने के बाद डेरा संचालकों की तरफ से ऐसा कोई इशारा किया जाएगा, जिसके बाद हिंसा भड़क सकती है.

सरकार को सूत्रों के हवाले से ये भी पता चल रहा था कि अगर राम रहीम ने फैसले के दिन कोर्ट में आने से इंकार कर दिया, तो उसे डेरा से गिरफ्तार करना नामुमकिन जैसा हो जाएगा क्योंकि वहां 50 हजार से ज्यादा डेरा समर्थक जुट गए थे.

गुड़गांव में राम रहीम की संपत्तियों का आंकड़ा जुटाया गया

गुड़गांव प्रशासन ने डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह की प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष संपत्तियों और बैंक खातों की जानकारी जुटा ली है. पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट ने आदेश दिया था कि हरियाणा और अन्य राज्यों में डेरा समर्थकों द्वारा संपत्ति को पहुंचाए गए नुकसान की भरपाई डेरा प्रमुख की संपत्तियों को जब्त करके की जाए. इसके बाद यह कदम उठाया गया है.

डेरा प्रमुख के सुरक्षा गार्डों के रिश्तेदारों से पिस्तौल बरामद : पुलिस

सिरसा में बाबा गुरमीत राम रहीम के सुरक्षा गार्ड के तौर पर तैनात पंजाब के दो पुलिसकर्मियों के रिश्तेदारों से यहां दो लाइसेंसी पिस्तौल बरामद की गई है.एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने नाम ना बताने की शर्त पर कहा, ‘हम यहां धारा 144 लागू होने के बावजूद हथियार रखने के लिए दो गार्डो के तीन-चार रिश्तेदारों से पूछताछ कर रहे हैं.’ अधिकारी ने कहा कि पुलिस ने पंजाब के दो पुलिसकर्मियों से भी पूछताछ की जिन्होंने सादी वर्दी पहन रखी थी और उनके पास लाइसेंसी एके-47 थी.

(साभार न्यूज़ 18)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
FIRST TAKE: जनभावना पर फांसी की सजा जायज?

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi