S M L

नोएडा नमाज मामला: देवबंद के मुफ्ती बोले, सरकारी जमीन पर नमाज पढ़ना गलत

मुफ्ती ने कहा कि नमाज पढ़ने से यदि विवाद पैदा होता है या किसी को आपत्ति होती है तो ऐसी जगह नमाज नहीं पढ़नी चाहिए क्योंकि शरीयत ऐसी जगह पर नमाज पढ़ने की इजाजत नहीं देती

Updated On: Dec 26, 2018 05:04 PM IST

Bhasha

0
नोएडा नमाज मामला: देवबंद के मुफ्ती बोले, सरकारी जमीन पर नमाज पढ़ना गलत

उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्ध नगर स्थित नोएडा अथॉरिटी के पार्क में नमाज अदा करने पर लगाई गई रोक के संबंध में देवबंद के मुफ्ती ने कहा है कि सरकारी जमीन पर नमाज पढ़ना गलत है.

गौतम बुद्ध नगर जिला पुलिस द्वारा इस संबंध में प्रतिबंध का पालन कराने के लिए 26 कंपनियों को नोटिस भी जारी किया गया था. इस संबंध में देवबंद के मुफ्ती अहमद गौड़ ने कहा कि पार्क आदि में नमाज पढ़ने से यदि कोई विवाद पैदा होता है या वह स्थल सार्वजनिक है अथवा सरकारी इसका ध्यान नमाजियों को रखना चाहिए. नमाजियों को वहां के सरकारी अमले या जमीन के मालिक से इजाजत लेकर ही नमाज अदा करनी चाहिए.

मुफ्ती ने कहा कि नमाज पढ़ने से यदि विवाद पैदा होता है या किसी को आपत्ति होती है तो ऐसी जगह नमाज नहीं पढ़नी चाहिए क्योंकि शरीयत ऐसी जगह पर नमाज पढ़ने की इजाजत नहीं देती. गौड़ ने कहा कि नमाज पढ़ना फर्ज है, जरूरी है. किसी भी स्थान पर जबरदस्ती नमाज पढ़ना ठीक नहीं है जब तक वहां के लोगों की आपसी सहमति न हो वहां नमाज नहीं पढ़नी चाहिए.

उन्होंने कहा कि यदि किसी कंपनी में काम करने वाले नमाजी है तो उस कंपनी को नमाज अदा करने की जगह मुहैया करानी चाहिए और यदि नमाजी अधिक हैं तो भी ऐसी जगह चिन्हित कराई जानी चाहिए जहां सभी सुकून के साथ नमाज अदा कर सके.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi