S M L

नोटबंदी: पुराने नोटों को रखने संबंधी अध्यादेश को राष्ट्रपति की मंजूरी

30 दिसंबर के बाद 31 मार्च, 2017 तक पुराने नोटों को आरबीआई के विभिन्न कार्यालयों में जमा किया जा सकता है.

Updated On: Dec 30, 2016 10:47 PM IST

FP Staff

0
नोटबंदी: पुराने नोटों को रखने संबंधी अध्यादेश को राष्ट्रपति की मंजूरी

बंद किए गए पुराने नोटों को जमा रखने और इनमें लेन-देन से रोकने वाले अध्यादेश को आज राष्ट्रपति की मंजूरी मिल गई है.

28 दिसंबर को कैबिनेट ने इस अध्यादेश को मंजूरी दी थी. इस अध्यादेश का नाम 'विशिष्ट बैंक नोट देयताएं समाप्ति अध्यादेश' है.

इसके तहत वैसे लोगों को भी 31 मार्च तक नोट जमा कराने की छूट दी गई है, जो 9 नवंबर से 30 दिसंबर तक किसी कारण से देश के बाहर रहे.

अनिवासी भारतीयों यानि एनआरआई को 30 जून 2017 तक पुराने नोट जमा कराने की छूट होगी. वे नोट आरबीआई के विभिन्न ऑफिसों में जमा करवा सकते हैं.

ये नियम सरकार के उस अध्यादेश का हिस्सा है, जिसे नोटबंदी को अंतिम तौर पर कानूनी जामा पहनाने के लिए अमल में लाया जाएगा.

यह अध्यादेश 31 दिसंबर से लागू होगा. अध्यादेश के अनुसार 31 मार्च के बाद एक खास सीमा से अधिक अमान्य नोटों को रखना गैर-कानूनी होगा. इसका उल्लंघन करने पर जुर्माने का प्रावधान इस अध्यादेश में हैं.

बैंकों में पुराने नोटों को जमा करने की अवधि 30 दिसंबर को खत्म हो रही है. 30 दिसंबर के बाद 31 मार्च, 2017 तक पुराने नोटों को आरबीआई के विभिन्न कार्यालयों में जमा किया जा सकता है. इसके लिए एक फॉर्म भरकर पुराने नोटों को जमा करने में देरी का कारण भी बताना होगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi