S M L

DU की छात्रा ने मकान मालिक के बेटे का किया अपहरण, मांगी 5 करोड़ फिरौती

पुलिस के एक अधिकारी ने शुक्रवार को बताया कि बहन-भाई दोनों शुरू में बच्चे के पिता से पांच करोड़ रुपये मांग रहे थे लेकिन बाद में बातचीत के बाद राशि को कम कर 50 लाख रुपए कर दिया

Updated On: Oct 13, 2018 03:10 PM IST

FP Staff

0
DU की छात्रा ने मकान मालिक के बेटे का किया अपहरण, मांगी 5 करोड़ फिरौती

दक्षिण-पश्चिमी दिल्ली के वसंत कुंज में आसानी से पैसा कमाने के मकसद से दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) के प्रथम वर्ष की एक छात्रा ने अपने छोटे भाई के साथ मिलकर अपने मकान मालिक के तीन वर्षीय बेटे का अपहरण कर लिया और उससे 5 करोड़ रुपए की फिरौती की मांग की.

पुलिस के एक अधिकारी ने शुक्रवार को बताया कि बहन-भाई दोनों शुरू में बच्चे के पिता से पांच करोड़ रुपये मांग रहे थे लेकिन बाद में बातचीत के बाद राशि को कम कर 50 लाख रुपए कर दिया. पुलिस ने बताया कि बच्चे को 24 घंटे के भीतर बचा लिया गया और इस सिलसिले में डीयू की छात्रा को गिरफ्तार कर लिया है और उसके भाई को हिरासत में ले लिया है.

मिली जानकारी के मुताबिक, मकान मालिक यानी बच्चे के पिता फाइनेंस कंपनी में काम करते हैं. इसलिए उनसे बच्चे को छोड़ने के एवज में 5 करोड़ रुपए की मांग की गई थी. हालांकि मामला धीरे-धीरे 50 लाख तक आ पहुंचा. पुलिस ने छानबीन में पता चला कि डीयू स्टूडेंट अपनी मां और छोटे भाई के साथ किराए के मकान में रहते थे. आरोपी के पिता की मौत हो चुकी है.

टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक, आरोपी और उसके भाई ने गुरुवार दोपहर को ही बच्चे का अपहरण कर लिया. उनलोगों ने इसकी योजना एक महीना पहले से ही बना रखी थी. अपहरण के बाद जब काफी देर तक बच्चा घर नहीं लौटा तो परिवार वालों ने पुलिस को फोन किया.

क्लोन्ड वॉट्सऐप नंबर का इस्तेमाल कर मांगी फिरौती

इसके बाद आरोपी छात्रा ने बच्चे को छोड़ने के एवज में 5 करोड़ रुपए की मांग की. पैसे वॉट्सऐप मैसेज के जरिए मांगे गए थे. जिस वॉट्सऐप नंबर से पैसे की मांग की गई थी, वह नंबर आरोपी छात्रा का नहीं बल्कि क्लोन्ड था. पुलिस को जांच में पता चला कि जिस नंबर से पैसे मांगे गए हैं वह एक रिक्शा चालक के नाम पर है.

पुलिस अभी इस मामले की जांच कर ही रही थी कि छात्रा ने मकान मालिक को वॉट्सऐप के जरिए कॉल किया और उस जगह के बारे में जानकारी दी जहां से पैसे लेने थे. जब पुलिस ने इस कॉल को ट्रैक किया तो पता चला कि यह मोबाइल एक ऐसे हॉट स्पॉट से कनेक्टेड है, जिससे 9 और फोन भी जुड़े हैं.

इसी बीच पुलिस ने मकान मालिक से कहा कि आप फिरौती की रकम देने के लिए बताए जगह पर पहुंचिए. जब मकान मालिक पैसे देने गए वहां पर सादे कपड़े में पुलिस वाले मौजूद थे. पैसे लेने के बाद आरोपी छात्रा अपने ठिकाने की तरफ चल पड़ी, जहां पर बच्चे को रखा था. पुलिस वहां पहुंची और बच्चे को सकुशल बरामद कर लिया और आरोपी छात्रा के साथ-साथ उसके भाई को भी पकड़ लिया.

शुरुआत में लड़की ने झूठ बोलने की कोशिश की और कहा कि इस मामले में एक तीसरा आदमी भी शामिल है लेकिन जब पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तब लड़की ने सारी कहानी बता दी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi