S M L

दिल्ली: 'सीरियल रेपिस्ट' अरेस्ट, दर्जनों बच्चियों को बनाया निशाना

इस शख्स ने कबूला है कि उसने दर्जनों बच्चों का बलात्कार और यौन शोषण किया है.

FP Staff Updated On: Jan 16, 2017 11:47 AM IST

0
दिल्ली: 'सीरियल रेपिस्ट' अरेस्ट, दर्जनों बच्चियों को बनाया निशाना

दिल्ली में पुलिस ने एक ऐसे शख्स को गिरफ्तार किया है जिसने कबूला है कि उसने दर्जनों बच्चों का बलात्कार और यौन शोषण किया है. उसने माना है कि वह पिछले 12 साल से बच्चों को अपना निशाना बना रहा था. इस शख्स को दो बच्चियों से यौन शोषण के आरोप में पकड़ा गया था.

सुनील रस्तोगी नाम का यह शख्स दर्जी का काम करता है. उसे उत्तराखंड में इसी तरह के मामले में पहले भी छह महीने जेल में रहना पड़ा था.

गिरफ्तारी के बाद पूछताछ में उसने कबूला कि वह दिल्ली, पश्चिमी यूपी और उत्तराखंड की बच्चियों को निशाना बनाता रहा है. दिल्ली पुलिस के डीसीपी ईस्ट ओमवीर विश्नोई ने कहा कि पुलिस को 12 ऐसे मामलों में उसकी संलिप्पता की जानकारी मिली है. वह ज्यादातर स्कूली बच्चों को निशाना बनाता था.

न्यूज18 इंडिया के मुताबिक, रस्तोगी की उम्र 38 साल है और इसके परिवार में पत्नी, 5 बच्चे हैं. वह यूपी के रामपुर का रहने वाला है.

खबर के अनुसार, रस्तोगी पिछले 4 साल से रामपुर में रह रहा था और वहां से ट्रेन से दिल्ली एनसीआर के सफर पर निकलता था, और उसके बाद दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद में 7 से 11 साल की मासूम बच्चियों को बहला फुसलाकर अपने साथ सुनसान जगह ले जाता था.

एक ही तरह का लिबास पहनता था

न्यूज 18 इंडिया के मुताबिक, खास बात यह कि इन जब रस्तोगी मासूम बच्चियों के साथ रेप और शोषण की वारदात को अंजाम देता, तो एक ही कपड़े पहनकर आता था.

ऐसा देता था वारदात को अंजाम

पुलिस के मुताबिक सुनील रस्तोगी बच्चों को नए कपड़े दिखाता था और उनसे कहता था कि ये कपड़े उनके पापा ने भेजे हैं. बच्चों को यह कहकर भी फुसलाता था कि उनके पापा ने उनको मिलने के लिए किसी जगह पर बुलाया है. मासूम बच्चे इसी बातों में फंसकर उसके साथ चलने को तैयार हो जाते थे.

2004 से कर रहा है अपराध

सुनील को उसके कोंडली स्थित ठिकाने से पकड़ा गया है. शुरुआती जांच में पता चला है कि उसने पहला अपराध 2004 में किया था. मयूर विहार में एक पड़ोसी की लड़की का यौन शोषण करने के कारण लोगों ने उसकी पिटाई भी कर दी थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
DRONACHARYA: योगेश्वर दत्त से सीखिए फितले दांव

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi