S M L

लापता होने के महीने भर बाद सूटकेस में मिली मासूम की लाश

पड़ोसियों को बदबू आने पर आरोपी ने कुछ चूहों को भी मार दिया, जिससे उन्हें शक न हो

FP Staff Updated On: Feb 13, 2018 07:47 PM IST

0
लापता होने के महीने भर बाद सूटकेस में मिली मासूम की लाश

पुलिस के मुताबिक सात साल के मासूम आशीष का सात जनवरी को अपहरण हो गया था. अपहरण करने के कुछ ही देर बाद अपहरणकर्ता ने मासूम की हत्या कर दी और लाश सूटकेस में छिपा दी. बाद में, पड़ोसियों को बदबू आने पर आरोपी ने कुछ चूहों को भी मार दिया, जिससे उन्हें शक न हो.

पुलिस उपायुक्त असलम खान ने कहा कि आशीष 7 जनवरी से लापता था, जिसके बाद मंगलवार को उसकी लाश नाथूपुरा गांव से बरामद की गई. खान ने कहा कि आरोपी अवधेष शाक्य को गिरफ्तार भी कर लिया गया है. पुलिस उपायुक्त के मुताबिक शाक्य मृतक बच्चे के परिजनों के मकान में पांच साल पहले किराए से रहता था. इसके बाद वह वहां से चला गया और नाथूपुरा में रहने लगा जहां से बच्चे की लाश बरामद हुई है.

यूपीएससी की तैयारी कर रहे शाक्य की आशीष के माता-पिता से अनबन थी. मृतक बच्चा शाक्य को चाचा कहता था और उसका काफी करीबी भी था. लेकिन आशीष के मां-बाप शाक्य के पार्टी करने की आदत के कारण आशीष को शाक्य के पास नहीं जाने देते थे.

आशीष को मार कर लाश बेड बॉक्स में छिपा दी

सात जनवरी को पहली कक्षा के छात्र आशीष को शाक्य ने साइकिल दिलाने के प्रलोभन से घर में बुलाया. जिसके बाद उसे मार दिया लेकिन गली में लगे सीसीटीवी कैमरों के कारण लाश को डिस्पोज नहीं किया. पुलिस के अनुसार उसने लाश को अपने बेड बॉक्स मे छिपा दिया.

डीसीपी खान के कहा कि जब आशिष के परिवार वाले स्वरूप नगर थाने में प्राथमिकी दर्ज कराने गए थे तब तक शाक्य ने परिवार को पूरे भरोसे में ले रखा था. पुलिस ने बताया कि आशीष के माता-पिता ने कुछ दिनों बाद शाक्य के स्वभाव में बदलाव महसूस किया और इसकी जानकारी पुलिस को भी दी. जिसके बाद पुलिस ने फिर से शाक्य से पूछताछ की जिसमें शाक्य बार-बार बयान बदल रहा था. लेकिन आखिर में वह टूट गया और अपराध कबूल कर लिया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi