S M L

दिल्लीः युवक के सुसाइड मामले में SHO का तबादला, आदेश से परिवार नाखुश

सुदीप के परिवार वाले एसएचओ को बचाने का आरोप लगा रहे हैं, उनका कहना है कि जिस अधिकारी के कारण उनके भाई ने अपनी जान दे दी, उसका बस ट्रांसफर कर मामले को शांत किया जा रहा है

Updated On: Dec 08, 2018 05:54 PM IST

FP Staff

0
दिल्लीः युवक के सुसाइड मामले में SHO का तबादला, आदेश से परिवार नाखुश

दिल्ली के कोटला मुबारकपुर इलाके में 12 अक्टूबर को सुदीप वाधवा खुदकुशी मामले में विजलेंस जांच रिपोर्ट आने के बाद कोटला मुबारकपुर एसएचओ समेत एक सब इंस्पेक्टर पर उच्च अधिकारियों की गाज गिर गई है. खबर है कि एसएचओ वीकेपीएस यादव और सब इंस्पेक्टर राजेश का ट्रांसफर कर दिया गया है. हालांकि इस घटना सामने आने के बाद से ही कोटला मुबारकपुर के एसएचओ छुट्टी पर चले गए थे.

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार करीब 56 दिन तक जांच के बाद यह आदेश दिया गया है.

सुदीप के परिवार वाले एसएचओ को बचाने का आरोप लगा रहे हैं

इस आदेश के बाद भी सुदीप के परिवार वाले एसएचओ को बचाने का आरोप लगा रहे हैं. उनका कहना है कि जिस अधिकारी के कारण उनके भाई ने अपनी जान दे दी, उसका बस ट्रांसफर कर मामले को शांत किया जा रहा है. परिवार वालों ने बताया कि सुदीप को एसएचओ वीकेपीएस यादव और सब इंस्पेक्टर राजेश किसी फर्जी मामले में फंसा रहे थे और उसे रोज परेशान कर रहे थे. इसके चलते सुदीप डिप्रेशन में चला गया था.

अन्य 8 पुलिसकर्मियों के खिलाफ केवल विजलेंस जांच ही चल रही है

उन्होंने कहा कि पुलिस ने अब तक उनके भाई की खुदकुशी का मामला दर्ज नहीं किया है. यही नहीं जब न्याय के लिए परिवार राजनिवास गया था, तब विजलेंस जांच के लिए मामला भेजा गया. उसके बाद भी अभी तक अन्य 8 पुलिसकर्मियों के खिलाफ केवल विजलेंस जांच ही चल रही है, मगर कोई कार्रवाई नहीं हुई है. बता दें कि सुदीप वाधवा ने 12 अक्टूबर को दिल्ली के टी ब्लॉक अर्जुन नगर कोटला मुबारकपुर में अपने कमरे में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी.

सुदीप पर 2017 में लूट और चोरी का एफआईआर दर्ज है

उसके घर की दीवार पर लिखा हुआ था कि 'एसएचओ वीकेपीएस यादव ने केस बनाया. मेरी मौत का जिम्मेदार वही है.' पुलिस ने उस वक्त मामले को ग्रेटर कैलाश थाने को सौंप दिया था. बाद में मामला विजलेंस में भेज दिया गया था. उस वक्त भी एसएचओ पर उसे और उसके परिवार को फर्जी मुकदमे में फंसाने की बात कही गई थी. पुलिस ने भी जांच के दौरान बताया कि सुदीप पर 2017 में लूट और चोरी का एफआईआर दर्ज है. इस केस में उसकी बहन और पिता भी आरोपी हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi