S M L

दिल्ली में सीलिंग को लेकर नहीं चलेगी किसी की दादागिरी: SC

जस्टिस लोकुर ने सूर्यन से कहा कि वह जनता के प्रतिनिधि हैं और उन्हें ऐसा उदाहरण बनना चाहिए कि वह कानून न तोड़ें

Updated On: Jul 30, 2018 04:04 PM IST

FP Staff

0
दिल्ली में सीलिंग को लेकर नहीं चलेगी किसी की दादागिरी: SC

दिल्ली के सीलिंग मुद्दे पर टिप्पणी करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि अनाधिकृत निर्माण को हटाए जाने के खिलाफ वह कोई 'दादागिरी' बर्दाश्त नहीं करेगी. कोर्ट ने कहा कि 'हमने ऑर्डर पास कर दिए हैं. अब किसी की भी दादागिरी काम नहीं करेगी और न ही हम इसे बर्दाश्त करेंगे.' जस्टिस मदन बी लोकुर की अध्यक्षता वाली बेंच ने सोमवार को ये बयान दिया.

इस दौरान नजफगढ़ जोन के वार्ड समिति के अध्यक्ष और बीजेपी पार्षद  मुकेश सूर्यन की ओर से उनके वकील आरएस सुरी ने सुप्रीम कोर्ट से बिना शर्त माफी मांगी.

सुप्रीम कोर्ट ने सूर्यन से मांगा था जवाब

दरअसल, पिछले मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट ने सूर्यन को एमसीडी इंजीनियरों के फोरम द्वारा उनके खिलाफ लगाए गए आरोपों पर जवाब देने का निर्देश दिया था. वार्ड समिति के अध्यक्ष पर दिल्ली में अनाधिकृत निर्माण की सीलिंग कर रहे अधिकारियों को कथित तौर पर धमकाने का आरोप है. अदालत ने सूर्यन से इस संबंध में सुप्रीम कोर्ट द्वारा उनके खिलाफ जारी नोटिस पर हलफनामा दाखिल करने को कहा था.

कोर्ट ने क्या कहा?

सोमवार को अदालत ने कहा, 'आप क्या कर रहे हैं? हम किसी को भी कानून हाथ में नहीं लेने देंगे. हमारे आदेश में किसी का हस्तक्षेप हम बर्दाश्त नहीं करेंगे. कोई भी कानून से ऊपर नहीं है और आपको यह समझना होगा.'

जस्टिस लोकुर ने सूर्यन से कहा कि वह जनता के प्रतिनिधि हैं और उन्हें ऐसा उदाहरण बनना चाहिए कि वह कानून न तोड़ें. जज ने सूर्यन से कहा, 'लोग क्या करेंगे, अगर आप नेता होकर ऐसा कर रहे हैं? वह भी इसी तरह व्यवहार करेंगे.'

अदालत ने सूर्यन से अपने आचरण पर बिना शर्त माफी के लिए स्पष्ट हलफनामे को दर्ज करने के लिए कहा. दिल्ली में सीलिंग ड्राइव अदालत के आदेश के तहत किया जा रहा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi