S M L

'ठक-ठक' गैंग का मास्टरमाइंड गिरफ्तार, हथियार और लाखों का कैश बरामद

पुलिस ने कन्हैया उर्फ 'गुरुजी' को लूट का माल लेकर कोलकाता से दिल्ली लौटने पर रेलवे स्टेशन से रंगे हाथ गिरफ्तार किया

Updated On: Mar 19, 2018 06:09 PM IST

FP Staff

0
'ठक-ठक' गैंग का मास्टरमाइंड गिरफ्तार, हथियार और लाखों का कैश बरामद
Loading...

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने कुख्यात ठक-ठक गैंग के मास्टरमाइंड को गिरफ्तार कर लिया है. 'गुरुजी' के नाम से मशहूर इस शातिर के पास से पुलिस ने 8 लाख रुपए भी जब्त किया है. उसके पास से एक पिस्तौल और दो जिंदा कारतूस भी बरामद हुआ है.

टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर के अनुसार क्राइम ब्रांच ने 48 साल के कन्हैया उर्फ 'गुरुजी' को नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से गिरफ्तार किया. पुलिस को सूचना थी कि वो कोलकाता राजधानी एक्सप्रेस से दिल्ली आ रहा है. जिसके बाद पुलिस ने जाल बिछाकर उसे रेलवे स्टेशन से धर दबोचा. वो अपने गैंग के सदस्यों से चोरी की रकम लेकर आया था.

क्राइम ब्रांच के ज्वाइंट कमिश्नर आलोक कुमार ने बताया कि मूल रूप से तमिलनाडु के मदुरै के रहने वाले कन्हैया उर्फ गुरुजी ने दिल्ली के इंद्रपुरी में अपना ठिकाना बना रखा था.

'ठक-ठक' गैंग के सदस्य दिल्ली के अलावा देश के दूसरे बड़े शहरों में भी सक्रिय हैं. इसके गैंग में बड़ी संख्या में महिलाएं भी शामिल हैं जो शातिराना ढंग से अपराध को अंजाम देती हैं. आरोपी कन्हैया इन सभी को ट्रेनिंग देने से लेकर उनके रहने आदी का इंतजाम करता था. उनके पकड़े जाने पर वो उन्हें कानूनी मदद भी मुहैया करवाता था.

'ठक-ठक' गैंग शातिराना अंदाज से वारदात को देता था अंजाम

'ठक-ठक' गैंग सदस्य चौक-चौराहे या रेड लाइट पर गाड़ियों में ठक-ठक आवाज कर, टायर पंचर कर या शीशे पर तेल या कुछ फेंक कर ड्राइवर का ध्यान भंग करते थे. वाहन चालक या उसमें सवार जब नीचे उतर कर गाड़ी चेक करता तो मौका देखकर वो बैग या कीमती सामान चोरी कर फरार हो जाते थे.

ऐसी दो-तीन वारदातें करने के बाद शातिरों की टीम 'गुरुजी' को खबर कर देती थी. इसके बाद गुरुजी फ्लाइट पकड़कर उस शहर में जाता और चोरी की रकम समेटकर फ्लाइट या ट्रेन से दिल्ली लौट आता था.

कन्हैया उर्फ 'गुरुजी' अपने साथ हथियार भी रखता था.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi