S M L

दिल्ली-NCR में बारिश के लिए तरस रहे लोग ही आखिर बारिश से बेहाल क्यों हैं?

बारिश से जहां लोगों को गर्मी से निजात मिली है, वहीं लगातार बारिश होने की वजह से दिल्ली के निचले इलाके में पानी भर गया है

Ravishankar Singh Ravishankar Singh Updated On: Jul 26, 2018 05:11 PM IST

0
दिल्ली-NCR में बारिश के लिए तरस रहे लोग ही आखिर बारिश से बेहाल क्यों हैं?

गुरुवार सुबह से ही दिल्ली-एनसीआर में रुक-रुककर बारिश और बारिश की छींटे पड़ रहे हैं. मूसलाधार बारिश ने पूरे शहर को जलमग्न कर दिया है. सड़क से लेकर फ्लाईओवर तक पानी-पानी नजर आ रहा है. सड़कों के धंसने और जलजमाव की खबरों की मानो तो बाढ़ सी आ गई है. बारिश के कारण इलाके के मकानों में दरारें पड़ने और गिरने का सिलसिला भी शुरू हो गया है.

बारिश ने जहां स्कूली बच्चों को स्कूल जाने से रोक दिया तो वहीं कामगार लोगों को ऑफिस जाने से. जगह-जगह पानी भरने से लोगों के साथ-साथ जानवरों को भी परेशानियों का सामना करना पड़ा. इसके बावजूद इस झमाझम बारिश ने दिल्ली-एनसीआर के लोगों के चेहरे पर खुशी ला दी है. पिछले कुछ दिनों की उमस भरी गर्मी के बीच यह बारिश काफी राहत लेकर आई है.

दिल्ली की इस सीजन की सबसे खुशगवार बारिश

मौसम विभाग ने दिल्ली-एनसीआर सहित देश के कई इलाकों में बारिश की आगे भी चेतावनी जारी की है. मौसम विभाग के मुताबिक, अगले कुछ घंटों में दिल्ली, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, छत्तीसगढ़, पं. बंगाल, बिहार, झारखंड, केरल और नॉर्थ ईस्ट के कुछ राज्यों असम, मेघालय, नागालैंड, त्रिपुरा और मिजोरम में भी बारिश की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है.

राजधानी दिल्ली सहित पूरे उत्तर भारत में एक बार फिर से मॉनसून सक्रिय हो गया है. इस मौसम की यह अब तक की सबसे खुशगवार बारिश कही जा रही है. बारिश से जहां लोगों को गर्मी से निजात मिली है, वहीं लगातार बारिश होने की वजह से दिल्ली के निचले इलाके में पानी भर गया है. गुरुवार सुबह लोगों को दफ्तर निकलने में खासी परेशानियों का सामना करना पड़ा.

बारिश के कारण कई इलाकों में जलभराव की स्थिति पैदा हो गई है. एनएच-24, आउटर रिंग रोड सहित दिल्ली के कई इलाकों में जाम लग गया है. मौसम विभाग के मुताबिक अगले कुछ घंटों में दिल्ली-एनसीआर में रुक-रुक कर बारिश होगी.

एनच-24 पर बारिश के बाद का नजारा. (पीटीआई)

एनच-24 पर बारिश के बाद का नजारा. (पीटीआई)

मौसम विभाग ने जारी की है चेतावनी

मौसम विभाग ने राजस्थान, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा और उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश और जम्मू-कश्मीर में भी अगले 36 से 72 घंटे के अदंर भारी बारिश की चेतावनी जारी की है. इन राज्यों में अगले कुछ दिनों तक बादल छाए रहेंगे. तापमान में भी काफी गिरावट दर्ज की जाएगी. मौसम विभाग के मुताबिक, 27 जुलाई के बाद मॉनसून और रफ्तार पकड़ेगी. इन इलाकों में पश्चिमी विक्षोभ के अधिक सक्रिय होने के कारण चक्रवाती परिस्थति पैदा हो रही है, जिससे तेज बारिश की आशंका पैदा हो रही है.

बता दें कि मौसम विभाग मौसम के बदलते स्वभाव को लेकर दिन में चार बार पुर्वानुमान जारी करता है. मौसम विभाग अपना पूर्वानुमान देश के प्रभावित राज्यों को भेजता है और उनके लिए कुछ गाइडलाइंस भी जारी करता है. मौसम विभाग रडार से हर गतिविधियों पर बारीकी से नजर रखता है और समय पर कलर कोडिंग के जरिए अलर्ट भी जारी करता रहता है. मॉनसून की इस बारिश को देखते हुए भी मौसम विभाग ने अलर्ट जारी किया है. आप यहां और यहां क्लिक कर मौसम विभाग का अलर्ट देख सकते हैं.

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के फोरकास्टिंग विभाग के मुताबिक, रडार से देखने के बाद वैज्ञानिकों को अंदाजा लग जाता है कि बारिश कितनी होने वाली है. आईएमडी कलर कोडिंग के जरिए ये सूचनाएं दी जाती हैं. सबसे पहले ग्रीन कलर कोड के जरिए सूचना दी जाती है. उसके बाद येलो कलर फिर ऑरेंज कोड और सबसे लास्ट में रेड कलर कोड के जरिए सूचनाएं दी जाती हैं.

ग्रीन कलर कोड में लोगों को सावधानी बरतने की सलाह दी जाती है. येलो कलर से संबंधित इलाके में आपदा प्रबंधन विभाग को अलर्ट कर दिया जाता है. ऑरेंज कलर कोडिंग के जरिए लोगों को आगाह किया जाता है कि हालात किसी भी वक्त बिगड़ सकते हैं. सबसे खतरनाक रेड कोड नोटिस का मतलब है कि जान-माल का बड़ा नुकसान हो सकता है इसलिए संबंधित विभाग जरूरी कदम उठाए.

मौसम के बदले हालात पर अभी ज्यादातर इलाकों में येलो और कुछ-कुछ जगहों पर ऑरेंज कलर कोडिंग में सूचना दी गई है. पहाड़ी एरिया में अगर बारिश और ओलावृष्टि होगी तो इसका असर दिल्ली, पंजाब और हरियाणा में साफ नजर आएगा.

दिल्ली में गुरुवार सुबह से शुरू हुई बारिश से लोगों को राहत तो मिली लेकिन अब यही बारिश लोगो के लिए आफत बनती जा रही है

दिल्ली में गुरुवार सुबह से शुरू हुई बारिश से लोगों को राहत तो मिली लेकिन अब यही बारिश लोगो के लिए आफत बनती जा रही है

जलमग्न हुई दिल्ली, अब मकानों के गिरने का सिलसिला होगा शुरू

राजधानी दिल्ली में भारी बारिश ने दिल्ली सरकार और एमसीडी की पोल खोल कर रख दी है. दिल्ली के कई इलाकों में सड़कों पर तीन से चार फीट तक पानी भर गया है. दिल्ली से सटे गाजियाबाद, नोएडा, गुरुग्राम में भी कमोबेश यही हालात नजर आ रहे हैं. सड़कों पर जगह-जगह पानी भर गया है. इससे खासकर स्कूली बच्चों को स्कूल जाने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा. नोएडा और गाजियाबाद के कई प्राइवेट स्कूलों ने नर्सरी से लेकर केजी कक्षा तक स्कूल बंद कर दिए हैं. स्कूल के तरफ से बच्चों के अभिभावकों को मैसेज भेजकर यह जानकारी दी गई है.

दूसरी तरफ बारिश की वजह से दिल्ली-एनसीआर के कुछ इलाकों में निर्माणधीन इमारतों का गिरने का सिलसिला भी एक बार फिर से शुरू हो गया है. गुरुवार सुबह हुई तेज बारिश के बाद ग्रेटर नोएडा में एक तीन मंजिला इमारत गिर गई. न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, ग्रेटर नोएडा के मुबारकपुर में एक तीन मंजिला इमारत गिर गई है. तीन लोगों को सुरक्षित बचा लिया गया है. फिलहाल किसी के हताहत होने की कोई खबर सामने नहीं आ रही है. बताया जा रहा है कि बगल की इमारत की बेसमेंट में मरम्मत का काम चल रहा था.

बता दें कि कुछ समय पहले ग्रेटर नोएडा के शाहबेरी और गाजियाबाद के आकाश नगर में इमारत ढह जाने से कई लोगों की मौत हो गई थी. इसके बाद दिल्ली के द्वारका इलाके में एक मकान की छत गिरने से भी पति-पत्नी की मौत हो गई थी और उनके तीन बच्चे घायल हो गए थे.

दिल्ली-एनसीआर में मूसलाधार बारिश ने जहां गर्मी में कमी लाई है वहीं प्रशासन की चिंता भी बढ़ा दी है. मूसलाधार बारिश की वजह से निर्माणाधीन इमारतों के गिरने का सिलसिला एक बार फिर से शुरू हो गया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi