S M L

दिल्ली: ऑटो ड्राइवर ने मां-बेटे को डूबने से बचाया, मगर खुद न बच सका

दिल्ली पुलिस ने इस बहादुर ऑटो ड्राइवर का नाम 'जीवन रक्षा ब्रेवरी अवॉर्ड' के लिए भेजने की बात कही है

Updated On: Dec 26, 2018 11:17 AM IST

FP Staff

0
दिल्ली: ऑटो ड्राइवर ने मां-बेटे को डूबने से बचाया, मगर खुद न बच सका

ऑटो चालकों के यात्रियों से बदतमीजी या उनसे जुड़ी गलत खबरें आपने अक्सर सुनी और पढ़ी होंगी. मगर इससे अलग दिल्ली में एक ऑटो ड्राइवर ने अपनी कुर्बानी देकर दो लोगों की जान बचाने का साहसिक कारनामा किया है.

टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर के अनुसार शनिवार की सर्द भरी सुबह ऑटो चालक पवन शाह यात्री को ड्रॉप कर अपने घर जा रहा था. उस वक्त लगभग 10 बजकर 45 मिनट का समय हो रहा था जब रास्ते में उसकी नजर दक्षिण पूर्व दिल्ली के मीठापुर नहर किनारे खड़ी एक महिला पर पड़ी. महिला की गोद में एक बच्चा था. महिला ने देखते ही देखते बच्चे को लेकर नहर में छलांग लगा दी. यह देखकर तकरीबन 30 वर्षीय पवन शाह नहर के ठंडे पानी की परवाह किए बिना उसमें कूद पड़ा.

पुलिस के मुताबिक वो तैरकर पानी में डूब रही महिला और उसके बच्चे के पास पहुंचा और उसने उनका हाथ पकड़ लिया. मगर पवन को लगा कि वो अकेले दोनों को बचा नहीं पाएगा, इसलिए वो मदद के लिए जोर-जोर से चिल्लाने लगा. उसकी पुकार वहां से गुजर रहे तीन लोगों- राजवीर, जामिल और संजीव ने सुनी. नहर में तीनों को डूबते देखकर वो फौरन समझ गए कि उन्हें क्या करना है. उन्होंने मानव ऋंखला (ह्यूमन चेन) बनाकर महिला और बच्चे को बचा लिया लेकिन पवन की जान नहीं बचा सके. वो पवन तक पहुंचते इससे पहले पानी का तेज बहाव उसे बहाकर अपने साथ ले गया.

पवन ने महिला और बच्चे के सिर को पानी के लेवल (स्तर) से ऊपर उठाए रखा जिससे वो डूबें नहीं. वो अपने इस मकसद में कामयाब रहा लेकिन खुद अपनी जान गंवा बैठा.

महिला और बच्चे को तो बचा लिया मगर खुद पानी की तेज धारा में बह गया (प्रतीकात्मक तस्वीर)

ऑटो चालक ने डूब रही महिला और बच्चे को बचा लिया मगर वो खुद पानी की तेज धारा में बह गया (प्रतीकात्मक तस्वीर)

नहर में तलाश किए जाने के बावजूद पवन का नहीं चल सका पता

घटना के बाद पुलिस और डिजास्टर मैनेजमेंट की टीमों ने मौके पर पहुंचकर नहर में पवन को तलाश की. इस काम में गोताखोरों को भी लगाया गया था. तमाम प्रयासों के बाद भी पवन का पता नहीं चला तो उसे मृत मान लिया गया.

पुलिस ने बताया कि पवन शाह मदनपुर खादर गांव का रहने वाला था. उन्होंने उसके परिवारवालों को इसकी सूचना दी. पवन की बॉडी तलाश करने के लिए रेस्क्यू टीमों को अलर्ट कर दिया गया है. वहीं बचाई गई महिला और बच्चे को अस्पताल ले जाया गया, जहां दोनों अब खतरे से बाहर हैं. महिला ने बताया कि शुक्रवार रात पति से झगड़े के बाद उसने अपने बेटे के साथ आत्महत्या करने की कोशिश की थी.

डीसीपी (दक्षिण पूर्व) चिन्मय बिस्वाल ने कहा, 'पवन शाह का नाम हम जीवन रक्षा ब्रेवरी अवॉर्ड' के लिए भेजेंगे. उन्होंने बताया कि पुलिस को इस घटना की जानकारी सुबह 10 बजकर 55 मिनट हुई थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi