S M L

दुनिया की दूसरी सबसे महंगी मेट्रो है दिल्ली मेट्रो, इस साल 4.2 लाख यात्रियों ने छोड़ा साथ

सेंटर फॉर साइंस एंड एनवायरमेंट (सीएसई) ने स्वच्छ परिवहन को लेकर मंगलवार को अपनी ये रिपोर्ट जारी की

Updated On: Sep 05, 2018 01:50 PM IST

FP Staff

0
दुनिया की दूसरी सबसे महंगी मेट्रो है दिल्ली मेट्रो, इस साल 4.2 लाख यात्रियों ने छोड़ा साथ

दिल्ली मेट्रो विश्व में दूसरी सबसे महंगी मेट्रो सर्विस है. यहां तक कि पिछले साल किराया बढ़ने के बाद से 4.2 लाख यात्रियों ने दिल्ली मेट्रो का साथ छोड़ा है. सेंटर फॉर साइंस एंड एनवायरमेंट (सीएसई) ने अपनी रिपोर्ट में ये कहा है.

सीएसई ने स्वच्छ परिवहन को लेकर मंगलवार को अपनी ये रिपोर्ट जारी की. इस रिपोर्ट में बताया गया है कि पिछले साल के किराया बढ़ोत्तरी के चलते दिल्ली का एक औसत यात्री अपनी कमाई का 14 प्रतिशत मेट्रो के किराए पर खर्च करता है. मेट्रो पर सबसे ज्यादा खर्च करते हैं वियतनाम के हनोई शहर के यात्री. वो अपनी कमाई का 25% हिस्सा मेट्रो के किराए पर खर्च करते हैं. इसके बाद दिल्ली के यात्रियों का नंबर आता है.

सीएसई ने कहा है कि किराया बढ़ाने के बाद दिल्ली मेट्रो की राइडरशिप में 46 प्रतिशत की कमी आई है. दो साल पहले 2018 के लिए प्रस्तावित राइडरशिप थी 39.5 लाख लेकिन इस साल की राइडरशिप महज 27 लाख रही है.

सीएसई ने ये भी कहा है कि मेट्रो का किराया बढ़ने के बाद यात्रियों की संख्या में कमी तो आई ही है सड़कों पर भी बोझ बढ़ा है. ये भी कहा है कि कारगर नीति न होने के चलते देश में 2030-31 तक देश में निजी वाहनों की संख्या 50 फीसदी हो सकती है. इसका सबसे बड़ा खतरा वायु प्रदूषण भी है.

वैसे भी देश में पिछले कुछ सालों में निजी वाहनों की मांग बढ़ी है और सार्वजनिक परिवहन के लिए वाहनों की संख्या कम हो रही है. वाहन बढ़ने के साथ-साथ कार्बन उत्सर्जन भी बढ़ रहा है. इस रिपोर्ट में कहा गया है कि सार्वजनिक वाहनों से लोगों की दूरी बनाने की वजह बस महंगा किराया ही नहीं ट्रांसपोर्ट सिस्टम को अपडेट न करना भी है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi