In association with
S M L

दिल्ली मेट्रो की सौगात, मार्च से ट्रेनों की संख्या में 45 फीसदी इजाफा

वर्तमान में सभी मेट्रो रूट पर ट्रेनों की संख्या कुल 227 है जिसे मार्च तक बढ़ाकर 328 कर दिया जाएगा

FP Staff Updated On: Aug 01, 2017 11:56 AM IST

0
दिल्ली मेट्रो की सौगात, मार्च से ट्रेनों की संख्या में 45 फीसदी इजाफा

दिल्ली मेट्रो से सफर करने वाले लोगों की आम शिकायत रहती है कि मेट्रो अक्सर काफी देरी से आती है. इस समस्या को दूर करने के लिए दिल्ली मेट्रो अगले कुछ महीनों में ट्रेनों की संख्या बढ़ाने की तैयारी में है.

दिल्ली मेट्रो की फेज 3 परियोजना लगभग पूरा होने वाली है और कॉर्पोरेशन ट्रेनों की संख्या बढ़ाने की तैयारी में है. मार्च 2018 तक दिल्ली-एनसीआर में मेट्रो का नेटवर्क 218 किलोमीटर से बढ़कर 348 किलोमीटर हो जाएगा. इसके साथ ही ट्रेनों की संख्या में भी 45 फीसदी तक का इजाफा होगा. वर्तमान में सभी लाइनों की ट्रेनों की संख्या मिलाकर कुल 227 है, मार्च तक यह बढ़कर 328 हो जाएगी.

अक्टूबर से दिल्ली मेट्रो मजेंटा (जनकपुरी - वेस्ट बॉटैनिकल गार्डन) और पिंक लाइन (मजलिस पार्क - शिव विहार) की कमिशनिंग दो फेजों में शुरू कर देगी. इन दोनों लाइनों पर मार्च 2018 से मेट्रो दौड़ने लगेगी.

वर्तमान में दिल्ली मेट्रो रेल कार्पोरेशन (डीएमआरसी) 227 ट्रेनें चलाती है. इनमें 4 कोच वाली, 6 कोच वाली और 8 कोच वाली ट्रेनें शामिल हैं. फेज 3 का काम पूरा हो जाने के बाद ट्रेनों की संख्या 328 हो जाएगी और कोच की संख्या 1,468 से बढ़कर 2,158 तक पहुंच जाएगी.

DelhiMetroYellowLine

690 नए कोच में से 504 फेज 3 की मजेंटा ओर पिंक लाइन मेट्रो में इस्तेमाल किए जाएंगे. साथ ही मौजूदा रूट पर चलने वाली मेट्रो की संख्या 227 से बढ़कर 244 हो जाएगी. इनमें से ज्यादातर 8 कोच वाली मेट्रो होंगी, जिससे यात्रियों की बढ़ती भीड़ से निबटा जा सके. इसके अलावा, 6 कोच वाली मेट्रो ट्रेनों को भी 8 कोच वाली मेट्रो में बदला जाएगा.

दिल्ली मेट्रो का ब्लू लाइन मेट्रो रूट सबसे व्यस्त रहता है. इस कॉरिडोर को सबसे ज्यादा ट्रेनें दी जाएंगी. इस रूट पर 8 कोच वाली ट्रेनों को 56 से बढ़ाकर 65 किया जाएगा. इसके बाद येलो लाइन दूसरा सबसे भीड़भाड़ वाला मेट्रो रूट है. इस रूट पर भी ट्रेनों की संख्या को 38 से बढ़ाकर 52 किए जाने की योजना है.

पिंक और मजेंटा लाइनों पर 6 कोच वाली ट्रेनें दौड़ेंगी, ऐसा इसलिए क्योंकि ब्लू और येलो लाइनों के मुकाबले यहां भीड़ के कम रहने की संभावना है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
गणतंंत्र दिवस पर बेटियां दिखाएंगी कमाल!

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi