S M L

ओवैसी की पार्टी AIMIM का पंजीकरण रद्द करने को लेकर HC में होगी सुनवाई

याचिकाकर्ता ने आरोप लगाया कि AIMIM के नेता और कार्यकर्ता लगातार हिंदू देवी-देवताओं और हिंदू धर्म के बारे में गलत-सलत बातें करते रहते हैं, इन लोगों के खिलाफ कई एफआईआर दर्ज हैं

Updated On: Sep 05, 2018 03:45 PM IST

FP Staff

0
ओवैसी की पार्टी AIMIM का पंजीकरण रद्द करने को लेकर HC में होगी सुनवाई

दिल्ली हाईकोर्ट में बुधवार को एक याचिका पर सुनवाई होगी जिसमें असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम का एक राजनीतिक दल के तौर पर पंजीकरण रद्द करने की मांग की गई है. हाईकोर्ट में यह याचिका मंगलवार को दाखिल की गई थी.

याचिका में आरोप लगाया गया है कि वह सिर्फ मुस्लिमों से संबंधित मुद्दे को उठाती है और धर्म के नाम पर वोट मांगती है. शिवसेना की तेलंगाना इकाई के अध्यक्ष द्वारा दायर याचिका में चुनाव आयोग के 19 जून 2014 के आदेश को निरस्त करने की मांग की गई है, जिसके जरिए ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) को तेलंगाना के राज्यस्तरीय दल की मान्यता दी गई थी.

याचिकाकर्ता तिरुपति नरसिंह मुरारी ने दावा किया कि एआईएमआईएम का संविधान और काम सुप्रीम कोर्ट द्वारा तय दिशा-निर्देशों के खिलाफ है और पार्टी को अयोग्य ठहराया जाना चाहिए क्योंकि उसके लक्ष्य और उद्देश्य धर्मनिरपेक्षता की अवधारणा के खिलाफ हैं. यह जन प्रतिनिधित्व अधिनियम की जरूरतों में से एक है.

अधिवक्ता हरिशंकर जैन और विष्णु शंकर जैन द्वारा दायर याचिका में चुनाव आयोग को एआईएमआईएम को पंजीकृत राजनीतिक दल के तौर पर मान्यता देने और मानने से रोकने का निर्देश देने की मांग की गई है.

याचिकाकर्ता मुरारी ने यह भी आरोप लगाया कि एआईएमआईएम के नेता और कार्यकर्ता लगातार हिंदू देवी-देवताओं और हिंदू धर्म के बारे में गलत-सलत बातें करते रहते हैं. उन्होंने कहा कि इन लोगों के खिलाफ कई एफआईआर दर्ज हैं.

(इनपुट भाषा से)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi