S M L

दिल्ली HC ने GTB अस्पताल के सर्कुलर को टाला, जानिए क्या था सरकार का आदेश

दिल्ली सरकार के इस सर्कुलर के खिलाफ आरोप लगाए गए थे कि इस सर्कुलर के तहत दिल्ली से बाहर के निवासियों को इलाज नहीं दिया जा रहा है

Updated On: Oct 12, 2018 12:01 PM IST

FP Staff

0
दिल्ली HC ने GTB अस्पताल के सर्कुलर को टाला, जानिए क्या था सरकार का आदेश

दिल्ली सरकार ने पिछले साल दिसंबर में दिल्ली के गोविंद बल्लभ पंत अस्पताल में मरीजों के इलाज के लिए एक सर्कुलर जारी किया था, जिसे दिल्ली हाईकोर्ट ने टाल दिया है. इस सर्कुलर में दिल्ली सरकार ने 50 प्रतिशत बेड को दिल्ली के निवासियों के लिए आरक्षित कर दिया था.

एक एनजीओ ने इस सर्कुलर के खिलाफ दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की थी. इस याचिका में दिल्ली सरकार के इस सर्कुलर के खिलाफ आरोप लगाए गए थे कि इस सर्कुलर के तहत दिल्ली से बाहर के निवासियों को इलाज नहीं दिया जा रहा है. शुक्रवार को दिल्ली हाईकोर्ट ने इस याचिका पर सुनवाई करते हुए इसे टाल दिया.

बता दें कि पिछले साल दिसंबर में दिल्ली सरकार ने एक सर्कुलर जारी करके जीबी पंत हॉस्पिटल के 50 प्रतिशत बेड्स को दिल्ली के निवासियों के लिए आरक्षित करने का आदेश जारी किया था. इस आदेश को तत्काल प्रभाव से लागू कर दिया गया था.

स्वास्थ्य सेवाएं महानिदेशालय के महानिदेशक डॉ. कीर्ति भूषण ने उस वक्त जानकारी दी थी कि 'ये देखा गया है कि पिछले 15 सालों में हॉस्पिटल के 50 से 60 प्रतिशत तक बेड पर पड़ोसी राज्यों से आए मरीजों की भर्ती होती है, जिससे दिल्ली के निवासियों को महीनों तक इतंजार करना पड़ता है. एक सर्जरी के लिए उन्हें छह से नौ महीने तक का इंतजार करने को कहा जाता है. इनमें से कुछ इलाज के लिए प्राइवेट हॉस्पिटल चले जाते हैं.'

दिल्ली के 32 सरकारी अस्पतालों और बाकी के प्राइवेट अस्पताल मरीजों को जीबी पंत हॉस्पिटल में भेजते हैं. दिल्ली का 714 बेडों वाला सुपर स्पेशियल्टी जीबी पंत अस्पताल दूसरे अस्पतालों से रेफर किए गए तीन विभागों के मरीज एडमिट करता है- न्यूरोलॉजी और न्यूरोसर्जरी, कॉर्डियोलॉजी और कॉर्डियोवस्कुलर सर्जरी और गैस्ट्रोलॉजी और गैस्ट्रिक सर्जरी.

दिल्ली सरकार की ओर से चलाए जाने वाले जानकीपुर सुपर स्पेशियल्टी हॉस्पिटल और राजीव गांधी सुपर स्पेशियल्टी हॉस्पिटल भी सुविधाएं हैं लेकिन मैनपॉवर की कमी से अभी पूरी तरह से काम नहीं करते. दिल्ली सरकार ने कहा था कि जब इन अस्पतालों में भी सुविधाएं शुरू हो जाएंगी, तब ये सर्कुलर हटा लिया जाएगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi