S M L

तंदूर कांड: HC ने दिल्ली सरकार के दो वरिष्ठ अधिकारियों की मदद मांगी

सुशील कुमार शर्मा अपनी पत्नी नैना साहनी की हत्या के लिए आजीवन कारावास की सजा काट रहा है. उसने 1995 में अपनी पत्नी नैना साहनी के शरीर के टुकड़े-टुकड़े कर एक रेस्तरां के तंदूर में जला दिया था

Updated On: Dec 15, 2018 04:36 PM IST

FP Staff

0
तंदूर कांड: HC ने दिल्ली सरकार के दो वरिष्ठ अधिकारियों की मदद मांगी

शुक्रवार को दिल्ली हाईकोर्ट ने दिल्ली सरकार के दो वरिष्ठ अधिकारियों को कोर्ट में पेश होने की मांग की है. दोनों ही अधिकारियों को पूर्व युवा कांग्रेस नेता सुशील कुमार शर्मा की समय से पहले रिहाई के मामले में सहायता करने के लिए कोर्ट ने उपस्थिति मांगी है.

सुशील कुमार शर्मा अपनी पत्नी नैना साहनी की हत्या के लिए आजीवन कारावास की सजा काट रहा है. सुशील शर्मा ने 1995 में अपनी पत्नी नैना साहनी के शरीर के टुकड़े-टुकड़े कर एक रेस्तरां के तंदूर में जला दिया था.

इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार बेंच ने कहा, 'प्रधान सचिव (गृह), जीएनसीटीडी के साथ-साथ कानून सचिव से अनुरोध है कि वे इस सुनवाई के बाद अदालत की सहायता के लिए सुनवाई की अगली तारीख पर उपस्थित रहें.' शर्मा की ओर से याचिका दायर करने वाले वकील अमित साहनी ने कहा कि - 'दोषी पिछले 29 सालों से जेल में है. और सेंटेंस रिव्यू बोर्ड (एसआरबी) के दिशानिर्देशों के अनुसार वो समय से पहले रिहाई के हकदार हैं.'

बेंच ने कहा कि 'किसी भी व्यक्ति का जीवन और स्वतंत्रता सर्वोपरि विचार है' इसके साथ ही उन्होंने कहा: 'हमें यह जानना चाहते हैं कि आप कैसे और क्यों किसी को अनिश्चित काल तक हिरासत में रख सकते हैं.'

ये भी पढे़ं: 

जल्दी नहीं छूटेगा जेसिका लाल का हत्यारा, दिल्ली सरकार पैनल ने खारिज की अपील

दोषियों की समय पूर्व रिहाई प्रक्रिया में पारदर्शिता की जरूरत: दिल्ली हाईकोर्ट

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi