S M L

दिल्ली हाई कोर्ट ने कहा 'राजघाट का गौरव फिर से बहाल करें'

श्याम नारायण चौकसी ने जनहित याचिका के जरिए आरोप लगाया गया है कि राष्ट्रपिता की समाधि का सही से रखरखाव नहीं किया जा रहा है

Updated On: Apr 27, 2018 09:17 PM IST

Bhasha

0
दिल्ली हाई कोर्ट ने कहा 'राजघाट का गौरव फिर से बहाल करें'

दिल्ली हाई कोर्ट ने शुक्रवार को राजघाट में महात्मा गांधी की समाधि के गौरव को बहाल करने की आवश्यकता पर बल दिया. हाई कोर्ट ने राष्ट्रपिता की समाधी स्थल के रखरखाव में हो रही लापरवाही से संबंधित श्याम नारायण चौकसी की याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा कि, ‘हमें उम्मीद है कि कुछ काम होगा. हमें काफी खुशी होगी.’

कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश गीता मित्तल और जस्टिस सी हरिशंकर की पीठ ने यह टिप्पणी 30 अप्रैल को स्कूल ऑफ प्लानिंग एंड आर्किटेक्चर के पूर्व डीन प्रोफेसर के टी रविंद्रन और अधिवक्ता सत्यकाम को समाधि का निरीक्षण करने का निर्देश देते हुए की. कोर्ट का कहना है कि समाधी स्थल पर रखरखाव का संजीदा तरीके से देखभाल की जाए, और राष्ट्रपिता की समाधी का गौरव फिर से स्थापित किया जाए.

दो जजों की पीठ ने कहा, ‘इसपर कोई विवाद नहीं है कि काफी कुछ किए जाने की आवश्यकता है, ताकि राजघाट का पुराना गौरव बहाल किया जा सके.’  अदालत श्याम नारायण चौकसी द्वारा दायर जनहित याचिका पर सुनवाई कर रही थी. याचिका में श्याम नारायण चौकसी द्वारा आरोप लगाया गया है कि राष्ट्रपिता की समाधि का सही से रखरखाव नहीं किया जा रहा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi