S M L

सरकारों को दिल्ली हाई कोर्ट की फटकार- क्या दशहरे में भी लोगों को सांस नहीं लेने दोगे

एक ऑटो चालक द्वारा दायर जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए दिल्ली और केंद्र की सरकार को दशहरे पर रावण दहन को रेगुलेट करने को लेकर नीति बनाने का आदेश दिया है

Updated On: Oct 17, 2018 10:12 PM IST

FP Staff

0
सरकारों को दिल्ली हाई कोर्ट की फटकार- क्या दशहरे में भी लोगों को सांस नहीं लेने दोगे
Loading...

अगले साल से दिल्ली की गली-गली में जलने वाले रावणों पर संभवतः रोक लग सकती है. दरअसल दिल्ली हाई कोर्ट ने एक ऑटो चालक द्वारा दायर जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए दिल्ली और केंद्र की सरकार को दशहरे पर रावण दहन को रेगुलेट करने को लेकर नीति बनाने का आदेश दिया है.

याचिकाकर्ता के वकील के.के. राय ने बेंच के समक्ष तर्क रखते हुए कहा कि क्षेत्रफल की दृष्टि से उनका जिला दिल्ली से बड़ा है. लेकिन दशहरा उत्सव के दौरान वहां सिर्फ एक ही रावण का पुतला जलाया जाता है. जबकि दिल्ली में 10,000 पुतले जलाए जाते हैं. राय ने इसी के साथ रावण दहन को रेगुलेट करने की मांग की.

याचिकाकर्ता की दलीलों से सहमत होते हुए जस्टिस रविंद्र भट और जस्टिस ए.के. चावला ने केंद्र और दिल्ली की सरकारों से सवाल किया कि क्या आप दशहरे पर भी लोगों को सांस नहीं लेने देना चाहते. आपको निश्चित रूप से इतनी संख्या में जलाए जा रहे पुतलों को रेगुलेट करने के लिए नीति बनानी चाहीए.

इसी के साथ दिल्ली हाई कोर्ट ने सरकारों को निर्देश दिया कि वह अगली सुनवाई को इस मामले से संबंधित हलफनामा दाखिल करें. जिसमें रावण दहन को रेगुलेट करने या नीति बनाए जाने के लिए क्या कदम उठाए हैं. इस मामले में अगली सुनवाई 22 नवंबर को होनी है.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi