S M L

टेरर फंडिंग मामले में कश्मीरी कारोबारी जहूर अहमद को राहत, हाईकोर्ट से मिली जमानत

कश्मीरी कारोबारी जहूर अहमद शाह वटाली को टेरर फंडिंग के मामले में दिल्ली हाईकोर्ट से राहत मिली है. कोर्ट ने उन्हें जमानत दे दी है.

Updated On: Sep 13, 2018 02:01 PM IST

FP Staff

0
टेरर फंडिंग मामले में कश्मीरी कारोबारी जहूर अहमद को राहत, हाईकोर्ट से मिली जमानत

कश्मीरी कारोबारी जहूर अहमद शाह वटाली को टेरर फंडिंग के मामले में दिल्ली हाईकोर्ट से राहत मिली है. कोर्ट ने उन्हें जमानत दे दी है. न्यायमूर्ति एस मुरलीधर और न्यायमूर्ति विनोद गोयल की एक खंडपीठ ने वाटाली को दो लाख रुपए के निजी मुचलके के साथ दो-दो लाख रुपए की दो प्रतिभूतियों पर जमानत दी. वटाली ने 8 जून को उनकी याचिका खारिज करने के अदालत के फैसले को चुनौती दी थी.

वटाली को 17 अगस्त को हिरासत में लिया गया था. इसके साथ ही इस साल जनवरी के महीने में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने वटाली के अलावा कश्मीर घाटी में अशांति पैदा करने की कोशिश करने के लिए हाफिज सईद, सैयद सलाहुद्दीन, सात कश्मीरी अलगाववादी नेता और अन्य के खिलाफ चार्जशीट दायर की थी. उन पर सईद और सलाहुद्दीन के साथ मिलकर षडयंत्र रचने के लिए आतंकवाद रोधी कानूनों के तहत चार्जशीट दाखिल की गई थी.

ये गिरफ्तार

24 जुलाई 2017 को गिरफ्तार किए गए अलगाववादियों में आफताब हिलाली शाह उर्फ शाहिद उल-इस्लाम, अयाज अकबर खांडे, फारूक अहमद डार उर्फ बिट्टा कराटे, नईम खान, अल्ताफ अहमद शाह, राजा मेहराजुद्दीन कलवल और बशीर अहमद भट्ट उर्फ पीर सैफुल्लाह शामिल हैं. अल्ताफ अहमद शाह कट्टरपंथी हुर्रियत नेता सैयद अली शाह गिलानी के दामाद हैं. जो पाकिस्तान के साथ जम्मू-कश्मीर के विलय की वकालत करते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi