S M L

दिल्ली: गोगी और टिल्लू गैंग के बीच 10 मिनट तक चलती रही गोलियां, गैंगवार की पूरी कहानी

गोगी गैंग का मेन टारगेट टिल्लू गैंग का 18 साल का मुकुल भांजा और सुनील टिल्लू था

Updated On: Jun 19, 2018 10:51 AM IST

FP Staff

0
दिल्ली: गोगी और टिल्लू गैंग के बीच 10 मिनट तक चलती रही गोलियां, गैंगवार की पूरी कहानी
Loading...

सोमवार को दिल्ली के बुराड़ी में भयानक गैंगवार हुई. इस गैंगवार में तकरीबन 8 लोग घायल बताए जा रहे हैं जबकि चार लोगों की मौत हो गई. गैंगवार गोगी गैंग और टिल्लू गैंग के बीच हुई थी. जानकारी के मुताबिक गोगी गैंग के जीतेंद्र गोगी और उसके साथी करीब 10 मिनट तक ताबड़तोड़ फायरिंग करते रहे. गोगी गैंग का मेन टारगेट टिल्लू गैंग का 18 साल का मुकुल भांजा और सुनील टिल्लू था. बताया जा रहा है कि मुकुल भांजा के परिवार वालों ने पहले ही इस खतरे की आशंका जताई थी.

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक गोगी गैंग के लोग टोयोटा में बुराड़ी पहुंचे. जैसे ही चार लोग जिम से निकलकर अपनी बुलेटप्रूफ स्कॉर्पियो में बैठने ही वाले थे, वैसे ही गोगी गैंग के लोगों ने फायरिंग शुरू कर दी. बताया जा रहा है कि उस समय 10 मिनट की फायरिंग में 40 गोलियां चलाई गईं.

चार लोगों में से एक की मौत मौके पर ही हो गई. बताया जा रहा है कि उसमें एक दर्जन से भी ज्यादा गोलियां दागी गई थी. इसके अलावा घटना के दौरान पास से गुजर रही महिला को भी गोली लग गई.

इसके बाद जैसे ही टिल्लू गैंग के अन्य दो लोग और आस-पास के लोग अपनी जान बचाने के लिए भागे, गोगी गैंग ने उनका पीछा किया और गोली चला दी. इसमें अन्य दो लोगों की भी मौत हो गई.

कैसे दिया गया पूरी घटना को अंजाम

जानकारी के मुताबिक मुकुल भांजा और उसके तीन दोस्त ( सुरेंद्र, जीतेंद्र और हिमांशु)  रोज की तरह सुबह 8.30 बजे स्कॉर्पियो से जिम गए. वे जिम से 9.30 बजे बाहर आए. इसके बाद सुरेंद्र ड्राइवर सीट पर बैठा और जीतेंद्र उसके पास वाली सीट पर. वहीं मुकुल और हिमांशु पीछे की सीट पर बैठे थे. इतने में हमलावरों ने स्कॉर्पियों पर फायरिंग शुरू कर दी. इसमें जितेंद्र और सुरेंद्र को गोली लग गई मगर पीछे बैठे मुकुल और हिमांशु भागने में कामयाब रहे.

हमलावरों ने उनका पीछा किया. इसके बाद मुकुल को तो हमलावर मारने में कामयाब रहे मगर हिमांशु ने पलट वार करते हुए संजीत नाम के हमलावर पर गोली चला दी जिसकी बाद में हॉस्पिटल में मौत हो गई.

घटना के बाद पुलिस मौके पर पुहुंची. जांच के लिए फॉरेंसिक अधिकारियों को बुलाया गया. और फायरिंग में घायल हुए आस-पास के लोगों को अस्पताल पहुंचाया गया.

जिम के लोगों का क्या कहना है?

घायलों में सुरेंद्र की हालत नाजुक बताई जा रही है. जितेंद्र खतरे से बाहर है. वहीं अन्य लोगों को डॉक्टरों की खास निगरानी में रखा गया है.

उधर बुराड़ी के पास के पुलिस थाने में मर्डर और मर्डर की कोशिश के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है.

उधर इस मामले में जिम के लोगों का कहना है कि उन्हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं थी कि वे चारों किसी गैंग से जुड़े हुए हैं. उन्होंने बताया वो चारों या तो एक कजन्स थे या फिर दोस्त. उन चारों में आपस में बहुत लगाव था. इस हादसे से पूरे इलाके में सन्नाटा छाया हुआ है.

कौन है टिल्लू गैंग

बता दें गैगस्टर टिल्लू ताजपुरिया दिल्ली के ताजपुर गांव का है. टिल्लू फिलहाल हत्या, लूट जैसे कई गंभीर मामलों के चलते जेल में बंद है. इससे पहले भी दिल्ली के कई इलाकों में गोगी और टिल्लू गैंग के बीच गैंगवार गो चुकी है.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi