S M L

दिल्ली: इंजीनियरिंग छात्र के नेतृत्व वाले गिरोह ने चुराई 100 कारें

दिल्ली से कार चुरा कर यह गिरोह उत्तर प्रदेश, पंजाब और छत्तीसगढ़ में उसे बेचा करता था, इनके पास से 17 लग्जरी गाड़ियां भी बरामद हुई हैं

FP Staff Updated On: May 09, 2018 03:46 PM IST

0
दिल्ली: इंजीनियरिंग छात्र के नेतृत्व वाले गिरोह ने चुराई 100 कारें

राजधानी दिल्ली के वाहन चोरों के एक गिरोह का उस समय भंडाफोड़ हो गया जब गैंग के पांच सदस्यों को दिल्ली पुलिस ने सोमवार को गिरफ्तार कर लिया. इस गैंग का नेतृत्व एक इंजीनियरिंग का छात्र कर रहा था. इन लोगों ने बीते एक सालों में लगभग 100 गाड़ियां चुराई. इस गिरोह के सदस्यों के पास से कम से कम 17 लग्जरी गाड़ियां भी बरामद हुई हैं.

ज्वॉइंट सीपी (क्राइम) अलोक कुमार ने बताया कि एसीपी जसबीर सिंह के नेतृत्व में पुलिस की एक टीम ने संजीव कुमार (35), धरमेंदर (28), हरवींदर (30), दीपक राणा (30) और शमशेर सिंह को पकड़ा था. इन लोगों के पास से पुलिस ने गाड़ियों के चोरी करने के लिए इस्तेमाल होने वाले औजार भी बरामद किए हैं.

पुलिस अधिकारी ने बताया कि इस मामले में पहली सफलता 27 अप्रैल को मिली. दक्षिणी दिल्ली के संगम विहार इलाके से पुलिस ने चोरी की हुई स्विफ्ट डिजायर के साथ संजीव कुमार को पकड़ा था. गाड़ी पर फर्जी नंबर प्लेट लगा हुआ था. कुमार के पास से पुलिस को एक बैग मिला था जिसमें इंजन कंट्रोल मॉड्यूल (ईसीएम), लॉक सेट और ड्रिल मशीन रखा हुआ था.

संजीव से मिली जानकारी के बाद पुलिस ने छापेमारे की और गैंग के अन्य सदस्यों को गिरफ्तार किया गया. इन लोगों ने 100 से अधिक कार चुराने की बात को स्वीकार कर लिया है. चोरी की हुई गाड़ियों को पंजाब, उत्तर प्रदेश और छत्तीशगढ़ में बेचा गया है.

वाहन चोरों ने पुलिस को बताया कि वो पहले कार की विंडो को तोड़ देते थे. इसके बाद हाई इंटेंसिटी मैगनेट्स और ड्रिल के माध्यम से स्टीयरिंग लॉक को तोड़ा जाता था. एक सदस्य की जिम्मेदारी थी कि वह गाड़ी में जीपीएस है कि नहीं, इसकी पता करे. जीपीएस पाए जाने पर उसे हटा दिया जाता था.

ईसीएम के माध्यम से कार में इस्टॉल्ड डिवाइस को यह गिरोह डिलीट कर देता था और ईसीएम को रिप्लेस कर देते थे. इसके बाद मास्टर-की का इस्तेमाल कर कार को लेकर फरार हो जाया करते थे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi