S M L

दिल्ली: अभी वो शुभ घड़ी दूर है जब मिलेंगे केजरीवाल और आईएएस अधिकारी

बुधवार को दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की तबीयत अचानक खराब हो जाने की वजह से आईएएस अधिकारियों के साथ होने वाली उनकी बहुप्रतीक्षित मुलाकात टल गई.

Ravishankar Singh Ravishankar Singh Updated On: Jun 20, 2018 09:39 PM IST

0
दिल्ली: अभी वो शुभ घड़ी दूर है जब मिलेंगे केजरीवाल और आईएएस अधिकारी

बुधवार को दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की तबीयत अचानक खराब हो जाने की वजह से आईएएस अधिकारियों के साथ होने वाली उनकी बहुप्रतीक्षित मुलाकात टल गई. बैठक टलने के बाद दिल्ली के राजनीतिक गलियारों में कयासों का दौर भी शुरू हो गया, लेकिन मामला क्योंकि अरविंद केजरीवाल के स्वास्थ्य से जुड़ा हुआ था इसलिए कोई भी राजनीतिक पार्टी या नेता इस पर खुलकर बोलने से कतराता रहा. फिलहाल अब भी तय नहीं हो पाया है कि सीएम के साथ आईएएस अधिकारियों की मुलाकात कब होगी?

दरअसल 9 दिनों तक धरना देने के बाद केजरीवाल का सूगर लेवल असामान्य हो गया. अरविंद केजरीवाल को सूगर की बीमारी है. सूगर की बीमारी में खान-पान के साथ दिनचर्या का भी ख्याल रखना पड़ता है. 9 दिनों में केजरीवाल की दिनचर्या बिगड़ गई थी. इसी वजह से मुख्यमंत्री कार्यालय ने बुधवार को अरविंद केजरीवाल के साथ होने वाली सभी बैठकों को स्थगित कर दिया.

हालांकि, बुधवार को दिल्ली सरकार के दूसरे कई मंत्रियों के साथ आईएएस अधिकारियों ने मीटिंग की. दिल्ली सचिवालय में बुधवार पूरे दिन बैठकों का दौर चलता रहा. कई मुद्दों पर बातचीत हुई. सबसे पहले स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने अपने कार्यालय में अधिकारियों के साथ बैठक की. बाद में दिल्ली सरकार के खाद्य आपूर्ति मंत्री इमरान हुसैन ने भी अपने मंत्रालय में ही अधिकारियों के साथ बैठक की.

SATYENDRA JAIN

अधिकारियों के साथ मीटिंग करते सत्येंद्र जैन

मंगलवार को ही केजरीवाल ने एलजी हाउस में 9 दिनों से चला आ रहा अपना धरना समाप्त किया था. फिर देर शाम अरविंद केजरीवाल एलजी हाउस से सीधे अपने घर चले गए थे. मंगलवार को अरविंद केजरीवाल के धरना समाप्त करने की जानकारी भी मनीष सिसोदिया ने मीडिया को दी थी. ऐसी खबर आ रही है कि बुधवार सुबह से ही अरविंद केजरीवाल स्वस्थ नहीं महसूस कर रहे हैं.

दूसरी तरफ दिल्ली के आईएएस एसोसिएशन ने एक बार फिर से केजरीवाल को पत्र लिख कर अधिकारियों को सुरक्षा देने के मुद्दे पर बैठक बुलाने की मांग की है. दिल्ली सरकार के आईएएस, दानिक्स और दास कैडर अधिकारियों ने एक साझा पत्र जारी कर केजरीवाल से सुरक्षा के मुद्दे पर मुलाकात करने की मांग की है. इन लोगों ने पत्र के जरिए कहा है कि नौकरशाह और लोकसेवक राजनीतिक तौर पर निष्पक्ष रहते हैं. हमलोगों का साफ कहना है कि अरविंद केजरीवाल किसी भी राजनीतिक पार्टी से हमें न जोड़ें.

एसोसिएशन के पत्र से जाहिर होता है कि मामला अब भी खत्म नहीं हुआ है. पत्र के जरिए यह भी कहा गया कि नीतिगत मामले पर मंत्री या मुख्यमंत्री से किसी नौकरशाह की सहमति या असहमति की सीएम और मंत्री सराहना करेंगे. एसोसिएशन का मानना है कि दिल्ली सरकार के सभी मंत्री इसे इरादतन विरोध के तौर पर नहीं लेंगे.

बीते मंगलवार को भी अरविंद केजरीवाल और एलजी के पत्र से लगा था कि बुधवार को किसी भी हालत में अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया की आईएएस अधिकारियों के साथ बैठक होगी, लेकिन केजरीवाल की तबीयत अचानक खराब होने से इसको रद्द करना पड़ा.

ताजा घटनाक्रम के बाद दिल्ली के आईएएस अधिकारियों और आप सरकार के बीच एकबार फिर से मौनव्रत का खेल शुरू हो गया है. एकतरफ जहां आईएएस अधिकारी अपने काम को जारी रखने की बात कर रहे हैं तो वहीं अरविंद केजरीवाल की सरकार प्रमुख सचिव के साथ कथित हमले को लेकर कुछ भी कहने से बचना चाह रही है. दिल्ली सरकार के आईएएस अधिकारियों का सीएम केजरीवाल के साथ मीटिंग का अब भी इंतजार है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi