S M L

दिल्ली में बाढ़ का खतरा: सीएम केजरीवाल ने की इमरजेंसी मीटिंग

यमुना नदी इस समय खतरे के निशान से 47 सेमी ऊपर बह रही है. रविवार शाम तक दिल्ली में इस पानी के घुसने की संभावना जताई गई है.

FP Staff Updated On: Jul 28, 2018 10:34 PM IST

0
दिल्ली में बाढ़ का खतरा: सीएम केजरीवाल ने की इमरजेंसी मीटिंग

हरियाणा के हथिनी कुंड बैराज से 5 लाख क्यूसेक पानी छोड़ने के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को एक आपातकालीन मीटिंग बुलाई. बता दें कि यमुना नदी इस समय खतरे के निशान से 47 सेमी ऊपर बह रही है. रविवार शाम तक दिल्ली में इस पानी के घुसने की संभावना जताई गई है.

गौरतलब है कि यमुना का जलस्तर खतरे के निशान को पार करने के बाद दिल्ली सरकार ने इसे लेकर अलर्ट जारी किया था. एक अधिकारी ने बताया था कि दिल्ली सरकार के सिंचाई और बाढ़ नियंत्रण विभाग ने निचले इलाकों में रह रहे 100 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के लिए तैयारियां की हैं.

पूर्वी दिल्ली जिला प्रशासन ने एक बयान जारी कर कहा था कि दिल्ली ओल्ड रेलवे ब्रिज पर यमुना का जलस्तर 27 जुलाई को शाम सात बजे 204.10 मीटर पहुंच गया. जलस्तर में लगातार वृद्धि हो रही है.

शनिवार सुबह 9 बजे दिल्ली रेलवे ब्रिज के पास यमुना का जलस्तर 204.96 मीटर मापा गया. यह स्तर खतरे के निशान (204.83 मीटर) से थोड़ा ऊपर है लेकिन 1978 के सबसे खतरनाक स्तर 207.49 मीटर से नीचे है. शनिवार को यमुना का मौजूदा जलस्तर 205.40 मीटर को छू जाने की आशंका जताई गई.

शनिवार 11 बजे हरियाणा के हथिनी कुंड बराज से 3,11,190 क्यूसेक पानी छोड़ा गया. इससे भी दिल्ली में बाढ़ का पानी फैलने की आशंका गहरा गई. पुराना लोहा पुल के आसपास पानी का स्तर काफी तेजी से बढ़ रहा है. स्थानीय लोगों को सुरक्षित जगहों की ओर कूच करने की हिदायत दी गई.

पूर्वी दिल्ली के एसडीएम अरुण गुप्ता ने कहा, हम लोगों को बता रहे हैं कि बच्चों और मवेशियों को यमुना के किनारे न छोड़ें और ऊंची जगहों पर चले जाएं. यमुना नदी में न नहाने की भी चेतावनी जारी की गई है. लोगों के लिए 10 जगहों पर टेंट लगाकर हर प्रकार का प्रबंध कर दिया गया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi