S M L

डीटीसी बसों में मेट्रो कार्ड के इस्तेमाल पर मिलेगा अतिरिक्त 10 % की छूट

राजधानी में वायु प्रदूषण के बढ़ते स्तर को देखते हुए लोगों के बीच पब्लिक ट्रांसपोर्ट का इस्तेमाल बढ़ाने के लिए दिल्ली कैबिनेट ने गुरुवार को ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट के इस प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया

Updated On: Oct 18, 2018 04:28 PM IST

PTI

0
डीटीसी बसों में मेट्रो कार्ड के इस्तेमाल पर मिलेगा अतिरिक्त 10 % की छूट

दिल्ली की लाइफलाइन कही जाने वाली मेट्रो की तर्ज पर राजधानी में चलने वाली डीटीसी बसों में भी अब मेट्रो कार्ड के इस्तेमाल पर 10 प्रतिशत अतिरिक्त छूट दी जाएगी. राजधानी में वायु प्रदूषण के बढ़ते स्तर को देखते हुए लोगों के बीच पब्लिक ट्रांसपोर्ट का इस्तेमाल बढ़ाने के लिए दिल्ली कैबिनेट ने गुरुवार को ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट के इस प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया है. अब डीटीसी-क्लस्टर बसों में कॉमन मोबिलिटी कार्ड (डीएमआरसी मेट्रो कार्ड) से सफर करने पर 10 पर्सेंट का डिस्काउंट मिलेगा.

डीटीसी और क्लस्टर स्कीम की सभी 5500 बसों में 24 अगस्त से ही कॉमन मोबिलिटी कार्ड लागू कर दिया गया था. ऐसे में दिल्ली कैबिनेट द्वारा पास किए गए नए प्रस्ताव पर अपनी बात रखते हुए डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा कि यह प्रस्ताव पास करना जरूरी था क्योंकि राजधानी में वायु प्रदूषण का स्तर बढ़ता चला जा रहा है. हमारा मकसद है कि हम ज्यादा से ज्यादा लोगों को पब्लिक ट्रांसपोर्ट का इस्तेमाल करने के लिए जागरूक करें.

सिसोदिया ने आगे कहा, केंद्र,पंजाब और हरियाणा सरकार को दिल्ली के साथ-साथ पूरे उत्तरी भारत में गिरी वायु की गुणवत्ता को देकते हुए कोई ठोस कदम उटाना होगा. केंद्र को बीच में आना ही पड़ेगा. किसानों को सब्सिडी नहीं दी गई है. यह केंद्र और राज्य दोनों ही सरकारों की विफलता है. अब चूंकि दिसंबर और जनवरी का महीना नजदीक है, पूरी दिल्ली गैस चैंबर में तब्दील हो जाएगी.

केंद्र सरकार से मिले आस्वासन के बावजूद हवा की गुणवत्ता में आई गिरावट

सिसोदिया ने कहा कि पिछले साल हमारी सरकार ने दिल्ली की वायु गुणवत्ता में सुधार के लिए कई प्रयास किए थे. इसके साथ ही हमने केंद्र, पंजाब और हरियाणा सरकारों से इस संबंध में कदम उठाने का अनुरोध किया था, लेकिन उनसे मिले आश्वासनों के बावजूद, हवा की गुणवत्ता में गिरावट आई है.

बीते बुधवार दिल्ली के पर्यावरण मंत्री इमरान हुसैन ने बताया कि उपग्रह से आए हरियाणा , पंजाब में जल रहे फसल के अवशेषों की कई तस्वीरें आई हैं. इन तस्वीरों को साझा करने वाले नासा के हुस्सैन ने कहा है कि इसे तुरंत रोक दिया जाना चाहिए, नहीं तो पूरे उत्तर भारत को गंभीर स्वास्थ्य खतरे का सामना करना पड़ सकता है.

ग्रेडियड रिस्पॉन्स एक्शन प्लान (जीआरपी), जो केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) दैनिक वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) के आधार पर वायु प्रदूषण को रोकने के उपायों का एक सेट निर्धारित करता है, सोमवार से राष्ट्रीय राजधानी में पहले से ही प्रभावी है.

अधिकारियों के मुताबिक, दिल्ली की वायु गुणवत्ता लगातार दूसरे दिन भी 'बहुत खराब' रही, राष्ट्रीय राजधानी में कई क्षेत्रों में प्रदूषण के गंभीर स्तर के करीब एयर कंडीशन फॉरकास्टिंग एंड रिसर्च के केंद्र संचालित प्रणाली के मुताबिक दिल्ली की कुल एक्यूआई 315 पर दर्ज की गई थी. एसीआईआई बुधवार को पहली बार इस सीज़न को 315 पर दर्ज किया गया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi