S M L

दिल्ली: नियम कानून न मानने पर 105 नर्सरी स्कूलों में एडमिशन पर रोक

इसी के साथ स्कूलों की बढ़ती मनमानी को देखते हुए कुछ गाइडलाइंस भी जारी की गई हैं. इन गाइडलाइंस में स्कूल फॉर्म की फीस में केवल 25 रुपए लेने के आदेश दिए गए हैं

Updated On: Dec 16, 2018 06:19 PM IST

FP Staff

0
दिल्ली: नियम कानून न मानने पर 105 नर्सरी स्कूलों में एडमिशन पर रोक

एडमिशन में नियम कानून का पालन नहीं करने पर दिल्ली के स्कूलों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की गई है. इसके तहत दिल्ली के 105 नर्सरी स्कूलों में एडमिशन पर रोक लगा दी गई है. बताया जा रहा है कि इन स्कूलों की मान्यता रद्द भी की जा सकती है.

इसी के साथ स्कूलों की बढ़ती मनमानी को देखते हुए कुछ गाइडलाइंस भी जारी की गई हैं. न्यूज 18 की रिपोर्ट के मुताबिक इन गाइडलाइंस में स्कूल फॉर्म की फीस में केवल 25 रुपए लेने के आदेश दिए गए हैं. इसके अलावा स्कूल पैरेंट्स से किसी तरह का कोई भी डोनेशन फीस नहीं वसूल सकते. इतना ही नहीं निदेशालय ने ये साफ कर दिया है कि सारे स्कूलों में बच्चों को एडमिशन प्वाइंट सिस्टम के आधार पर ही मिलेगा. पहली एडमिशन लिस्ट से अगर पैरेंट्स को कोई भी दिक्कत है तो इसका निपटारा 5 फरवरी से 12 फरवरी के बीच किया जाएगा.

नर्सरी स्कूलों में दाखिला शुरू

आज यानी 16 दिसंबर से ही दिल्ली के नर्सरी स्कूलों में दाखिले की प्रक्रिया शुरू हुई है. करीब 1700 निजी स्कूलों में एडमिशन के लिए आवेदन पत्र मिलने शुरू हो गए हैं. एप्लिकेशन फॉर्म जमा कराने की आखिरी तारीख 7 जनवरी है.

इससे पहले बच्चों के  स्कूल बैग के वजन को कम करने के लिए भी कुछ गाइडलाइन जारी की गई थी. इस गाइडलाइन में हर क्लास के मुताबिक बच्चों के स्कूल बैग का वजन कितना होना चाहिए, ये बताया गया था. इस गाइडलाइन के मुताबिक क्साल 1 और 2 में पढ़ने वाले वाले बच्चों के स्कूल बैग का वजन 1.5 किलो तय किया गया. वहीं क्लास 3 से क्लास 5 तक के छात्र-छात्राओं के स्कूल बैग का वजन 2 से 3 किलो तय किया गया . इसके बाद क्लास 6 और क्लास 7वीं में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं के स्कूल बैग का वजन 4 किलो तय किया गया. जबकि 8वी और 9वीं क्लास के लिए स्कूल बैग का वजन 4.5 किलो तय हुआ. इसके बाद 10वीं क्लास के लिए स्कूल बैग का वजन केवल 5 किलो तय किया गया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi