S M L

गैस चेंबर बनी दिल्ली में अभी भी वायु गुणवत्ता ‘बहुत खराब’ श्रेणी में बरकरार

धीमी वायु गति जैसी प्रतिकूल मौसम स्थितियों के कारण दिल्ली में गुरुवार को वायु गुणवत्ता 'बहुत खराब' श्रेणी में कायम रही

Updated On: Dec 06, 2018 04:08 PM IST

Bhasha

0
गैस चेंबर बनी दिल्ली में अभी भी वायु गुणवत्ता ‘बहुत खराब’ श्रेणी में बरकरार

धीमी वायु गति जैसी प्रतिकूल मौसम स्थितियों के कारण दिल्ली में गुरुवार को भी वायु गुणवत्ता 'बहुत खराब' श्रेणी में कायम रही, जबकि चार क्षेत्रों में वायु गुणवत्ता 'गंभीर' श्रेणी में दर्ज की गई. केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 343 दर्ज किया.

एक्यूआई सूचकांक 201 से 300 के बीच में 'खराब', 301 से 400 तक 'बहुत खराब' और 500 से ऊपर 'गंभीर' श्रेणी में आता है. बोर्ड के अनुसार, चार इलाकों मुंडका, नेहरू नगर, रोहिणी और वजीरपुर में वायु गुणवत्ता 'गंभीर' श्रेणी में दर्ज की गई. वायु गुणवत्ता 24 क्षेत्रों में ‘बहुत खराब’ और चार क्षेत्रों में 'खराब' रही.

बोर्ड ने कहा कि पीएम 2.5 का औसत स्तर 210 और पीएम 10 का स्तर 386 रहा. बोर्ड के डेटा के अनुसार, एनसीआर में, गाजियाबाद, फरीदाबाद और नोएडा में वायु गुणवत्ता 'बहुत खराब' श्रेणी में रही. केन्द्र द्वारा संचालित 'वायु गुणवत्ता एवं मौसम पूर्वानुमान प्रणाली' (सफर) ने कहा कि दिल्ली में औसत वायु गुणवत्ता 'बहुत खराब' श्रेणी में बरकरार रही.

संस्था ने कहा, 'सामान्य सतह वायु गति एकमात्र मौसम संबंधी कारक है जो प्रदूषण को असरदार तरीके से संग्रहित नहीं होने दे रही है और कुछ हद तक सकारात्मक रूप से काम कर रही है. मौसम संबंधी अन्य स्थितियां वायु गुणवत्ता के लिए प्रतिकूल हैं.'

प्रदूषण नियंण बोर्ड के एक कार्यबल ने दिल्ली एनसीआर में ज्यादा प्रदूषण वाले 21 स्थलों की पहचान की है और संबंधित निकाय संस्थाओं को ‘‘केन्द्रित कार्रवाई’’ करने का निर्देश दिया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi