S M L

उत्तराखंड के इस शहर के कूड़े से बनेगा खाद

देहरादून नगर निगम द्वारा पहले कूड़े के निस्तारण के लिए पैसा खर्च किया जाता था, अब शीशमबाड़ा प्लांट बन जाने के बाद निगम की यह चिंता दूर हो गई है

Updated On: Jan 01, 2018 03:16 PM IST

FP Staff

0
उत्तराखंड के इस शहर के कूड़े से बनेगा खाद

देहरादून शहर का कूड़ा इस साल से दुर्गंध नहीं सोना उगलेगा. शीशमबाड़ा सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट में कूड़ा डंप किया जाना तो दिसंबर से ही शुरू कर दिया गया था लेकिन अब अब इस कूड़े से खाद बनाकर बेचने की योजना है, जिसकी तैयारियां अंतिम चरणों में हैं. प्लांट में कूड़े से खाद बनाने वाली ट्रॉमल मशीनें लगा दी गई हैं, जो जल्द ही काम करने लगेंगी.

शीशमबाड़ा प्लांट से पब्लिक को सबसे ज्यादा राहत मिलेगी. शहर का पूरा कूड़ा शहर से दूर शीशमबाड़ा में डंप किया जा रहा है. कूड़े से खाद बनाई जाएगी तो शहर का कूड़ा हर हाल में प्लांट तक पहुंचाया जाएगा. शहर में कूड़े के ढेर नहीं दिखेंगे तो यह न सिर्फ़ जन स्वास्थ्य के लिए बेहतर होगा बल्कि किसानों को जैविक खाद आसानी से उपलब्ध हो पाएगी.

नगर निगम द्वारा पहले कूड़े के निस्तारण के लिए पैसा खर्च किया जाता था, अब शीशमबाड़ा प्लांट बन जाने के बाद निगम की यह चिंता दूर हो गई है. कूड़े के निस्तारण में खर्च किया जाना वाला पैसा अब विकास कार्यो पर खर्च होगा. निगम को सिर्फ कूड़ा शीशमबाड़ा प्लांट तक पहुंचाना होगा. इसके बाद खाद बनाने का काम कार्यदायी संस्था का होगा.

कूड़े से जो खाद तैयार की जाएगी, उसका लाभ प्लांट का काम देख रही रैमकी कंपनी को होगा. कंपनी द्वारा कूड़े की खाद बनाकर उसे किसानों को बेचा जाएगा. ये आमदनी कंपनी की होगी. कूड़े से खाद बनाने के लिए निगम कंपनी को कोई पैसा नहीं देगा. खाद बेचकर कंपनी खुद इसकी लागत और लाभ निकालेगी.

नगर निगम अब शहर से दो वक्त, सुबह-शाम, कूड़ा उठाकर शीशमबाड़ा पहुंचाएगा. इसके लिए निगम ने अतिरिक्त वाहन किराए पर लिए हैं. निगम के अपने करीब 70 वाहन भी कूड़ा उठान का काम करेंगे.

निगम द्वारा किए गए सर्वे के अनुसार शहर में रोज ढाई सौ मीट्रिक टन कूड़ा पैदा होता है. पहले इस कूड़े को सहस्त्रधारा ट्रंचिंग ग्राउंड में डंप किया जाता था. प्लांट बनने के बाद अब ये इलाका भी कूड़ा मुक्त हो गया है.

(न्यूज18 के लिए सत्येंद्र बड़थवाल की रिपोर्ट)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi