S M L

नगरोटा आतंकी हमले में शहीद मेजर अक्षय गिरीश की मौत की जांच के लिए बनेगी कमिटी: रक्षामंत्री

इससे पहले जांच एजेंसी एनआईए ने पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का डिप्टी चीफ अब्दुल रऊफ असगर, मसूद अजहर के भाई सहित तेरह के खिलाफ चार्जशीट दायर की थी

Updated On: Jan 03, 2019 10:04 PM IST

FP Staff

0
नगरोटा आतंकी हमले में शहीद मेजर अक्षय गिरीश की मौत की जांच के लिए बनेगी कमिटी: रक्षामंत्री

साल 2016 में जम्मू-कश्मीर के नगरोटा क्षेत्र में हुए आतंकी हमले में शहीद हुए मेजर अक्षय गिरीश की मौत की जांच के लिए रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक कमिटी बनाने की घोषणा की है. शहीद अक्षय की मौत की जांच की मांग बहुत समय से उनकी मां उठाती रही हैं. ऐसे में गुरुवार को रक्षामंत्री ने इसे मंजूरी देते हुए एक कमिटी का गठन किया है.

इससे पहले जांच एजेंसी एनआईए ने पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का डिप्टी चीफ अब्दुल रऊफ असगर, मसूद अजहर के भाई सहित तेरह के खिलाफ चार्जशीट दायर की थी. एनआईए ने खुलासा किया था कि जैश-ए-मोहम्मद के चार आतंकवादी- मोहम्म आशिक बाबा, सइद मुनीर-उल-हस्सन कादरी, तारीक अहम डर्र, अशरफ हमीद खांडे ने हथियारों से लैश पाकिस्तानी आतंकवादियों के तीन समूह तायीर किए थे और उसे जम्मू के होटल जगदंबा पहुंचाया था.

इंडियन आर्मी के मेस में हुआ था आतंकी हमला

आतंकवादियों के इन तीनों समूह को आरोपी की गाड़ी से इंडियन आर्मी के मेस कॉम्प्लेक्स में ले जायागया और वहीं 28 नवंबर, 2016 को घटना को अंजाम दिया गया. जांच में पाया गया कि इस आतंकी हमले का मास्टरमाइंड जैश-ए-मोहम्मद का डिप्टी चीफ अब्दुल रऊफ असगर था.

साल 2016 में जम्मू-कश्मीर के नगरोटा क्षेत्र में हुए आतंकी हमले में शहीद हुए मेजर अक्षय गिरीश की मौत की जांच के लिए रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक कमिटी बनाने की घोषणा की है. शहीद अक्षय की मौत की जांच की मांग बहुत समय से उनकी मां उठाती रही हैं. ऐसे में गुरुवार को रक्षामंत्री ने इसे मंजूरी देते हुए एक कमिटी का गठन किया है.

इससे पहले जांच एजेंसी एनआईए ने पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का डिप्टी चीफ अब्दुल रऊफ असगर, मसूद अजहर के भाई सहित तेरह के खिलाफ चार्जशीट दायर की थी. एनआईए ने खुलासा किया था कि जैश-ए-मोहम्मद के चार आतंकवादी- मोहम्म आशिक बाबा, सइद मुनीर-उल-हस्सन कादरी, तारीक अहम डर्र, अशरफ हमीद खांडे ने हथियारों से लैश पाकिस्तानी आतंकवादियों के तीन समूह तैयार किए थे और उसे जम्मू के होटल जगदंबा पहुंचाया था.

आतंकवादियों के इन तीनों समूह को आरोपी की गाड़ी से इंडियन आर्मी के मेस कॉम्प्लेक्स में ले जायागया और वहीं 28 नवंबर, 2016 को घटना को अंजाम दिया गया. जांच में पाया गया कि इस आतंकी हमले का मास्टरमाइंड जैश-ए-मोहम्मद का डिप्टी चीफ अब्दुल रऊफ असगर था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi