S M L

मच्छर काटने से मौत हुई तो बीमा का फायदा मिलेगा

राष्ट्रीय उपभोक्ता निवारण आयोग ने कहा है कि यह मानना कठिन है कि मच्छर काटने से होने वाली मौत दुर्घटना नहीं होती है.

Updated On: Jan 02, 2017 04:04 PM IST

Ravishankar Singh Ravishankar Singh

0
मच्छर काटने से मौत हुई तो बीमा का फायदा मिलेगा

राष्ट्रीय उपभोक्ता विवाद निवारण आयोग (एनसीडीआरसी) ने मच्छर काटने से हुई मौत पर भी बीमा का लाभ देने का ऐतिहासिक फैसला सुनाया है. आयोग ने यह फैसला कोलकाता की रहनी वाली मौसमी भट्टाचार्य की याचिका पर सुनाया है.

मौसमी भट्टाचार्य के पति की मौत साल 2012 में मलेरिया से हो गई थी. मौसमी ने बीमा कंपनियों से पति की मौत के बाद क्लेम की मांग की थी, जिसे बीमा कंपनियों ने देने से इंकार कर दिया था. मौसमी ने इसके बाद कंज्यूमर कोर्ट का रुख किया.

पश्चिम बंगाल की जिला कंज्यूमर फोरम और पश्चिम बंगाल उपभोक्ता विवाद निवारण आयोग ने मौसमी के पक्ष में फैसला सुनाया. जिला कंज्यूमर फोरम और पश्चिम बंगाल उपभोक्ता आयोग के पक्ष में फैसला होने के बाद भी इंश्योरेंस कंपनी ने मौसमी को क्लेम नहीं दिया.

मौसमी भट्टाचार्य बाद में राष्ट्रीय उपभोक्ता आयोग में याचिका दायर की. राष्ट्रीय उपभोक्ता आयोग ने बीमा कंपनियों से कहा कि जब सांप काटने, कुत्ता काटने और ठंड से मौत जैसी घटनाएं दुर्घटना हैं तो मच्छर काटने से होने वाली बीमारियों को भी दुर्घटना में ही जोड़ा जाए.

राष्ट्रीय उपभोक्ता निवारण आयोग के जस्टिस वी के जैन ने कहा है कि यह मानना कठिन है कि मच्छर काटने से होने वाली मौत दुर्घटना नहीं होती है.

राष्ट्रीय उपभोक्ता विवाद निवारण आयोग (एनसीडीआरसी) ने मौसमी भट्टाचार्य के दलील को स्वीकार कर उनके पक्ष में फैसला सुनाया.

उपभोक्ता मामले के जानकार जितेंद्र नारायण सिंह कहते हैं, 'इस तरह के मामलों में मुआवजा मिलना ही चाहिए, क्योंकि इस तरह के मामले में मौत किसी की लापरवाही के कारण ही होती है. शहर में मच्छर न हो इसकी जिम्मेदारी नगर निगम और सरकार की होती है. यह निर्णय स्वागत योग्य है'

मौसमी की पति देवाशीष ने बैंक ऑफ बड़ौदा से होम लोन लिया था. नेशनल इश्योरेंस कंपनी से बीमा पॉलिसी ली थी. उनकी मौत के बाद भी होम लोन काफी बकाया था. मौसमी भट्टाचार्य ने जब होम लोन खत्म करने के लिए बीमा कंपनी पहुंची तो उनका दावा खारिज कर दिया गया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi