S M L

स्वाति मालीवाल ने योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर रेप पीड़िता के इंसाफ की लगाई गुहार

जिस रेप पीड़िता के इंसाफ की गुहार मालीवाल ने लगाई है, उसके साथ बीते दस सालों से हो रहा था गैंगरेप

Updated On: Dec 15, 2018 07:52 PM IST

FP Staff

0
स्वाति मालीवाल ने योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर रेप पीड़िता के इंसाफ की लगाई गुहार

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने यूपी में बढ़ रही महिला अपराधों की घटना पर चिंता जाहिर करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखा है. मालीवाल ने एक रेप पीड़िता की शिकायत और उस पर यूपी पुलिस के शर्मनाक रवैये पर लिखते हुए कहा, यूपी के चांदपुर इलाके में एक पिता ने दस साल पहले अपनी 12 साल की बच्ची को उसके ही ट्यूशन टीचर को बेच दिया. टीचर 65 साल का था. महज 40,000 रुपए के बदले पिता ने अपनी बेटी को उसके हवाले कर दिया.

पीड़िता इस दौरान किस दर्द से गुजरी यह उसके आंसुओं से साफ पता चलता है. उसके आंसू बताते हैं कि इन दस सालों में उसके साथ कितने जुल्म हुए. पीड़िता आज 21 साल की हो चुकी है. वह बताती है कि 17 साल की उम्र तक चांदपुर के बिजनोर में 4 लड़के उसका रेप करते रहे. उसने यहां से भागने की कई बार कोशिश की, लेकिन हर बार नाकाम रही. बलात्कारी उसे बार-बार पकड़ लेते. भागने की सजा के तौर पर उसके साथ शारीरिक हिंसा की जाती थी. बाद में उन्हीं चार बलात्कारियों में से एक के साथ उसे जबरदस्ती भेज दिया गया. वहां रोज रात 8 बजे के करीब उसे ड्रग दिया जाता था. यह सुनिश्चित करने के लिए कि वह कहीं भागे नहीं, उसे स्टोर रूम में बंद कर उसके साथ बार-बार गैंग रेप किया जाता.

बलात्कारियों में से एक था सीरियल रेपिस्ट

वह 17 साल की थी जब वह प्रेग्नेंट हो गई और उसने एक बच्ची को जन्म दिया. बलात्कारी पिता उस बच्ची के साथ भी गंदा सलूक करता था. यहां तक कि उसने कई बार बच्ची को सिगरेट से जलाने की भी कोशिश की. रेप पीड़ित ने शिकायत लिखवाने के दौरान इस बात पर विशेष जोड़ दिया कि बलात्कारियों में से एक सीरियल रेपिस्ट है. उसने एक 19 साल की लड़की की हत्या भी की है. दस सालों तक हुए इस उत्पीड़न के बाद आखिरकार पीड़िता भागने में कामयाब हो गई और मदद के लिए पुलिस थाने पहुंची.

लेकिन चांदपुर थाने में शिकायत दर्ज कराने पहुंची पीड़िता की शिकायत पुलिस ने दर्ज करने से मना कर दिया. कई प्रयासों के बाद जाकर पुलिस ने एफआईआर दर्ज की लेकिन अब तक किसी भी अपराधी की गिरफ्तारी नहीं हुई है. इस पूरे घटनाक्रम को दुर्भाग्यपूर्ण और यूपी पुलिस की भूमिका को शर्मनाक बताते हुए मालीवाल ने योगी आदित्यनाथ से सख्त कार्रवाई की मांग की है. साथ ही प्रदेश की बिगड़ती जा रही न्यायिक व्यवस्था को भी सुधारने की अपील की है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi