S M L

जींद में धरना दे रहे दलितों ने दी धर्म परिवर्तन की धमकी

लित ज्वाइंट एक्शन कमेटी के सदस्य एडवोकेट रजत कल्सन ने कहा कि सरकार उनकी अनदेखी कर रही है और दलितों को अपनी जायज मांगों के लिए सौ दिन तक धरने पर बैठना पड़ रहा है

Bhasha Updated On: May 20, 2018 09:05 PM IST

0
जींद में धरना दे रहे दलितों ने दी धर्म परिवर्तन की धमकी

जींद लघु सचिवालय के बाहर पिछले 100 दिनों से धरना दे रहे दलित समुदाय के लोगों ने रविवार को धमकी दी कि अगर एक सप्ताह में उनकी मांगें नहीं मानी गईं तो वे दिल्ली जाकर धर्म परिवर्तन कर लेंगे.

जींद लघु सचिवालय के बाहर धरना स्थल पर दलितों ने रविवार को एक बड़ी जनसभा की जिसमें बड़ी संख्या लोगों ने हिस्सा लिया.

इस जनसभा को संबोधित करते हुए दलित ज्वाइंट एक्शन कमेटी के सदस्य एडवोकेट रजत कल्सन ने कहा कि सरकार उनकी अनदेखी कर रही है और दलितों को अपनी जायज मांगों के लिए सौ दिन तक धरने पर बैठना पड़ रहा है.

उन्होंने कहा कि ये मांगें पूरी करना सरकार की नैतिक जिम्मेदारी बनती है. इसके बावजूद सरकार दलितों के प्रति अपनी संकीर्ण मानसिकता के चलते उनकी जायज मांगों को पूरा नहीं कर रही है.

उन्होंने कहा, ‘अगर सरकार ने अगले रविवार तक मांगें पूरी नहीं कीं तो दलित समाज दिल्ली जाकर धर्म परिवर्तन करेगा.’ धरने को संबोधित करते हुए 20 दिन से भूख हड़ताल पर बैठे दिनेश खापड़ ने कहा कि यह सरकार दलित विरोधी है और इसी दलित विरोधी मानसिकता के चलते दलितों की जायज नैतिक मांगों को नजरअंदाज किया जा रहा है.

उन्होंने कहा कि अगर अगले रविवार तक मांगें पूरी नहीं होती हैं तो दलित समाज दिल्ली के लिए अगले रविवार से कूच करेगा और कूच के दौरान हरियाणा में भारत सरकार की दलित विरोधी विरोधी मानसिकता के बारे में जगह-जगह प्रचार करेगा.

इस मार्च में शामिल लोग बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण के बाद सरकार विरोधी नारे लगाते हुए धरना स्थल पर वापस आ गए.

जुलूस के दौरान पुख्ता पुलिस के इंतजाम किए गए थे. इस दौरान धरने पर बड़ी संख्या में महिलाओं की भी उपस्थिति रही.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi